नए साल के पहले दिन सरगुजा तरबतर

ठंडी हवाएं, कड़ाके की सर्दी

सरगुजा संभाग। मौसम के करवट बदलते ही संभाग के सभी जिलेा में कल रात से बूंदाबांदी के साथ अचानक ठंड बढ़ गई। नए साल के पहले दिन भर बादल छाए रहे, भगवान सूर्यदेव बादलों में छिपे रहे। धूप न निकलने से दिन के तापमान में गिरावट आई और दिन भर ठंडी हवाएं चलती रहीं। वहीं, जिले में आगामी तीन से चार दिन तक तापमान में और भी गिरावट आने की संभावना है।

              संभाग के अम्बिकापुर, सुरजपुर, जशपुर, बलरामपुर रामानुजगंज और कोरिया में 31 दिसंबर की दोपहर के बाद से अचानक आसमान में घने बादल छा गए तथा रात 9 बजे के बाद बूंदाबांदी होने लगी। दिन भी मैदानी इलाकों में कोहरे का प्रभाव देखने को मिला। सुबह और दोपहर बाद जिले में कई क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे तापमान में और गिरावट आ गई। ठंड के प्रभाव से दिन में भी कड़ाके सर्दी का अहसास होता रहा।

नए साल के पहले दिन 1 जनवरी को पूरे दिन भर भगवान भास्कर घने बादलों में छुपे रहे। वहीं पूरे दिन भर लगभग 5 से 6 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ठंडी हवाएं चलती रहीं। कइ्र जिलों का अधिकतम तापमान 20 डिग्री और न्यूनतम तापमान 12 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। सर्दी बढ़ने से लोग दिन में भी गर्म कपड़े और टोपी या मफलर बांधकर ही घरों से निकले, वहीं बारिश में रेनकोट और छाते भी लेकर लोगों को आते जाते देखा गया है। वहीं ज्यादातर लोग दिन में अलाव जला कर ठंड से बचने का उपाय करते रहे। यहां तक कि शहर के कई क्षेत्रों में दिन लोग सड़कों व चौराहों पर निजी अलाव जलाकर सर्दी दूर करते दिखाई दिए। अभी यह स्थिति कुछ दिनों तक ऐसे ही बनी रहने की संभावना जताई जा रही है।