सरगुजाः प्रतापपुर वन परिक्षेत्र में फिर एक हाथी का शव मिला, मौत स्पष्ट नहीं

पिछले 4 महीने में प्रतापपुर वन परिक्षेत्र में 4 हाथियों की मौत

सूरजपुर। सरगुजा संभाग के सुरजपुर जिले के प्रतापपुर वन परिक्षेत्र में आज सुबह फिर एक हाथी का शव मिला। सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंच गया, अब पता लगाया जा रहा है कि आखिर फिर इस हाथी का मौत की वजह क्या है, वन विभाग के अधिकारी हाथी के पोस्टमार्टम के बाद ही मौत का स्पष्ट कारण बताने की बात कह रहे हैै। बताया जा रहा है कि डाक्टरों की टीम भी मौके पर पहुंच रही है।

इस संबंध में प्रतापपुर रेंजर प्रेमचंद मिश्रा ने बताया कि एक हाथी का शव करंजवार जंगल में मिला है। शव आज सुबह ही मिला है। पोस्टमार्टम की तैयारी की जा रही है जिसके बाद ही पता चल पायेगा। हलांकि उन्होनें बताया कि अभी तक करंट लगाने जैसे कोई भी निशान नहीं मिले हैं।

जानकारी के अनुसार आज सुबह प्रतापपुर सरहरी मार्ग पर स्थित करंजवार जंगल में एक दंतैल हाथी का शव मिला है। कुछ माह पूर्व दो हाथिनियों के शव के बाद यह तीसरा हाथी का शव है, जिसके बाद सुरजपुर वनमंडल में हडकंप मचा हुआ है।

करंजवार जंगल में हाथी की मौत का यह दूसरा मामला है। इससे पूर्व यहां हाथी का सड़ा-गला शव मिला था। शव काफी पुराना हो चुका था लेकिन वन विभाग को इसकी भनक तक नहीं लगी थी। ग्रामीणों द्वारा सूचना दिए जाने के बाद उन्हें जानकारी लगी थी।

इसी बीच आज सुबह एक और दंतैल हाथी का शव मिला। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि हाथी के शव के आस-पास किसी अन्य हाथी से संघर्ष के निशान नहीं हैं। हाथी के मुंह के पास से खून निकलने के निशान हैं।

गौरतलब है कि हाथी मौçतों के लिए प्रतापपुर रेंज प्रदेश में चर्चित रहा है।पढ़्े 24 घंटे में 2 हाथियों की मौत https://deshtv.in/chhattisgarh/sarguja-divison/two-elephants-killed-in-24-hours-in-surguja/पिछले 4 महीने में प्रतापपुर वन परिक्षेत्र में 4 हाथियों की मौत हो चुकी है। प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के गणेशपुर जंगल में 2 महीने पहले 2 हथनियों का शव मिला था। इस मामले की उच्चस्तरीय जांच चल रही है।

वहीं राजपुर वन परिक्षेत्र में हथिनी के शव मिलने के बाद वन विभाग के कई अधिकारियों कर्मचारियों पर गाज गिरी थी। हलांकि अभी तक सुरजपुर वन मंडल में किसी पर भी कार्यवाही नहीं की गई है। अब फिर सुरजपुर वनमंडल में हाथी की मौत के बाद अधिकारियों कर्मचारियों के हाथ पैर फूल गए है।

बलरामपुर से भेजी गई एक टीम
उधर हाथी की मौत की सूचना मिलते ही बलरामपुर डीएफओ लक्ष्मण सिंह ने एक टीम रवाना कर दी,  उन्होंने टीम को निर्देशित किया है वे वहां जाकर बार बार हाथियों की मौत के पीछे आखिर कारण क्या है ये पता लगाएं और वहां के कर्मचारियों की मदद करे। बलरामपुर से भेजी गई टीम में हाथी को लेकर कुछ जानकार भी है।

संबंधित पोस्ट

सरगुजा: दम्पति की सिर कुचली लाश, दामाद ही निकला कातिल

सरगुजा: युवक और किशोरी की नग्न लाश बरामद, प्रेम हत्या का मामला

सरगुजा: ओडिशा की बुजुर्ग महिला को हाथी ने पटक कर मार डाला

सरगुजा: स्कूल से लौटती छात्रा को अगवा कर गैंगरेप

सरगुजा : नाबालिग युवती से सामूहिक बलात्कार, 3 गिरफ्तार

सरगुजा : डाक्टर पर कालेज छात्रा ने लगाया रेप का आरोप, मामला दर्ज

सरगुजा: शादी पंडाल में आ धमका हाथी, हमले में घायल बुजुर्ग की मौत

सरगुजा : पत्नी की प्रेमी संग प्रताड़ना से तंग पति ने फांसी लगा ली

सरगुजा: बलरामपुर में शराबी बेटे ने माँ को जिन्दा जला दिया  

सरगुजा: बलात्कार के बढ़ते मामलों ने उड़ाई पुलिस प्रशासन की नींद

Video:लेमरू एलिफेंट प्रोजेक्ट: विरोध कर रहे ग्रामीणों को मिला मंत्री सिंहदेव का साथ

सरगुजा: विरोध में फंसकर रह न जाये लेमरू हाथी कोरीडोर परियोजना