स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 : “फ़ाइव स्टार” वाला हुआ नगर निगम अंबिकापुर

केन्द्रीय आवास एवं शहरी मंत्रालय के सर्वेक्षण में बनाई जगह

अंबिकापुर। छतीसगढ़ को अंबिकापुर की वज़ह से एक बार फिर देश में एक नई उचाई मिली है। प्रदेश के अंबिकापुर नगर निगम को देश भर के नगर निगमों की रैंकिंग में फ़ाइव स्टार मिले है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के तहत गार्बेज फ्री सिटी अंतर्गत स्टार रैकिंग के नतीजे आज वेब कास्ट के द्वारा जारी किए गए।

जिसमें छत्तीसगढ़ से एक मात्र शहर नगर निगम अंबिकापुर को 5 स्टार रैकिंग घोषित किया गया है। भारत सरकार केन्द्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा ये सर्वेक्षण कराया गया था।

केन्द्रीय शहरी एवं आवास मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने नई दिल्ली से वेब कास्ट के माध्यम से नतीजे जारी किया गया। 5 स्टार रैकिंग में छत्तीसगढ़ का अम्बिकापुर के अतिरिक्त गुजरात का राजकोर्ट और सूरत, कर्नाटक का मैसूर, महाराष्ट्र का नवी मुंबई और मध्यप्रदेश का इंदौर शहर शामिल है।

 

स्वच्छता दीदियों की महती भूमिका-कलेक्टर
कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने राष्ट्रीय स्तर हुए स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में छत्तीसगढ़ से अम्बिकापुर नगर निगम को गार्बेज फ्री सिटी का 5 स्टार रैकिंग हासिल होने पर इसे बड़ी उपलब्धि बताते हुए नगर वासीयो, स्वच्छता दीदियों, नगर निगम के स्वच्छता अमलो तथा जनप्रतिनिधियों के बधाई दिया है।

उन्होंने स्वच्छता दीदियों की महती भूमिका की सराहना करते हुए सजग नगरवासियों को भविष्य में भी नगर को स्वच्छ रखने का आग्रह किया है।

इस तरह मिले है फाइव स्टार
गौरतलब है कि अंबिकापुर के नागरिक स्वच्छता के प्रति बेहद जागरूक एवं सजग हैं। विगत वर्षो से शहर को स्वच्छ रखने में अपनी महती जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं। शहर के 27 हजार 200 घरों एवं 3 हजार 200 प्रतिष्ठानों से नियमित रूप से कचरा संग्रहित किया जा रहा है।

यहां के नागरिक पूरी जिम्मेदारी के साथ 30 हजार 400 घरों एवं संस्थानों से प्रतिमाह लगभग 15 लाख रूपए यूजर जार्च समय पर देते हैं। 1 हजार 600 घरों में होम कम्पोस्टिंग होता है।

नगर निगम के विभिन्न वार्डो में स्थित 18 एसएलआरएम सेन्टर में स्वच्छता दीदियों द्वारा 139 केटेगरी में सूखा कचरा एवं 17 केटेगरी में गीला कचरा का पृथक्करण किया जा रहा है। 30 वर्ष पुराने डम्पयार्ड को प्रोसेस करके 16 एकड़ जमीन में स्वच्छता चेतना पार्क विकसित किया गया है।

यहां 100 प्रतिशत निर्माण एवं विध्वंश अपशिष्ठ से 6 केटेगरी में अलग-अलग करके उपयोगी सामग्री बनायी जाती है। 65 प्रतिशत घरों में स्वच्छता एप्प का उपयोग होता है और समय-सीमा में शत्-प्रतिशत शिकायतों का निराकरण किया जा रहा है।

नगर को स्वच्छ रखने में स्वच्छ अम्बिकापुर मिशन सहकारी समिति की 447 स्वच्छता दीदीयों द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया जा रहा है। नगर के सेप्टिक टैंक से संग्रहित मल के निपटान हेतु 20 हजार लीटर प्रतिदिन क्षमता का एफ.एस.टी.पी. प्लांट लगाया गया है। इस प्रकार अम्बिकापुर के नागरिकों में स्वच्छता के प्रति सतत रूप से जागरूकता दृष्टिगत हो रहा है।