शादी का झांसा दे दिल्ली बुलाया, बेचने की थी तैयारी, और…

विधायक अंबिका सिंहदेव के प्रयासो से सकुशल रिहाई

बैकुंठपुर। शादी के झांसा देकर युवती को दिल्ली बुला लिया और फिर उसका सौदा होने लगा। बेचने की तैयारी चलने लगी। इसी दौरान विधायक अंबिका सिंहदेव से युवती के परिजनों ने मदद की गुहार की और फिर दबाव ऐसा बना कि युवती सकुशल घर भेज दिया। पुलिस अब आरोपियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई में जुट गई है। मामला कोरिया जिले का है। उल्लेखनीय है कि कोरिया-जशपुर वनांचल से आदिवासी लड़कियों को काम दिलाने के नाम पर या शादी के नाम पर धोखे में रखकर या बरगलाकर दिल्ली ले जाने और वहां बेचे जाने की कई घटनाएं सामने आती रही हैं। छत्तीसगढ़ के इन दोनो वनांचलो से मानव व्यापाक की सर्वाधिक घटनाएं अब तक देखने को मिल चुकी हैं।

जानकारी के अनुसार बैकुंठपुर जनपद अंतर्गत ग्राम सलका में आयोजित फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल मैच में बतौर मुख्य अतिथि पहुंची बैकुंठपुर विधायक अम्बिका सिंहदेव से लापता युवती के परिजन मिले, उन्हें आपबीती सुनाई। मामले की गंभीरता भांपते ही उन्होंने अपने निज सचिव भूपेन्द्र सिंह को उसी वक़्त सिटी कोतवाली भेजा। जिसके बाद उन्होंने लड़की की खोज के हर संभव प्रयास तेज कर दिए। अंततः लड़की दिल्ली से सकुशल वापस अपने घर पहुंच चुकी है।

व्हाट्सएप मैसेज से मिली जानकारी
लड़की के घर से चले जाने की जानकारी लड़की की एक सहेली को थी। उसके व्हाट्सएप नंबर पर हुई बातचीत के आधार पर गांव के ही एक व्यक्ति पर लड़की को वापस लाने का दबाव बनाया गया। उसने तीन दिन का समय मांगा, जिसके बाद उसने लड़की को घर पहुंचाया।

लड़की को बेचने की थी तैयारी
लड़की को शादी के नाम पर दिल्ली भेजने के पीछे उसे बेचने की पूरी तैयारी थी। इसी का ध्यान रखकर लड़की को दिल्ली भेज दिया गया था, परंतु समय रहते मामले को सही रणनीति बनाकर लड़की को सुरक्षित घर पहुंचा दिया गया है। अब शुरू होने वाली कानूनी कार्यवाही में कई राज खुलने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

इस संबंध में बैकुंठपुर विधायक 

 अम्बिका सिंहदेव बताती है कि पहला

  काम था कैसे भी लड़की को घर वापस

   लाना, बिना रणनीति बनाये ये मुमकिन 

                           नही था, लड़की सकुशल अपने घर पहुंच गई है,

                          अब इसमें  शामिल लोगों पर कानूनी कार्यवाही होगी।