सारकेगुड़ा मुठभेड़ मामला : पूर्व CM रमन सिंह, मुकेश गुप्ता, तत्कालीन बस्तर आईजी, एसपी समेत 7 अधिकारियों के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज

हिमांशु कुमार, सोनी सोढ़ी और वकील भी मौजूद

बीजापुर। जगदलपुर के सारकेगुड़ा में फर्जी मुठभेड़ मामले में पूर्व सीएम रमन सिंह, मुकेश गुप्ता, तत्कालीन बस्तर आईजी लांगकुमेर, CRPF डीआईजी एस. एलांगो, एसपी प्रशांत अग्रवाल, टीआई इब्राहिम खान और 190 CRPF कोबरा जवानों के खिलाफ के 17 पीड़ित परिवार ग्रामीणों ने बासागुड़ा थाने में शिकायत दर्ज कराई है। सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु कुमार, सोनी सोढ़ी और वकील भी सारकेगुड़ा गांव ग्रामीणों के साथ मौजूद थे। सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु कुमार और सोनी सोरी सुप्रीम कोर्ट के दिए एक फैसले का तर्क देकर अभी एफआईआर दर्ज करने की मांग पर अड़े है। वहीं एसडीओ विनोद मिंज का कहना है कि इस मामले में शासन को पत्र भेजा जाएगा, जो निर्णय आएगा उसके बाद एफआईआर दर्ज करेंगे।

बता दें कि सारकेगुड़ा गांव में 2012 में नक्सलियों के साथ फर्जी मुठभेड़ बताते हुए जवानों ने 17 ग्रामीणों की हत्या कर दी थी। इस बात का खुलासा न्यायिक जांच आयोग ने किया था। 28-29 जून 2012 में की दरम्यानी रात त्यौहार मना रहे ग्रामीणों पर जवानों ने अंधाधुंध फायरिंग की थी। फायरिंग में 17 निर्दोष आदिवासियों की जान चली गई थी। न्यायिक जांच रिपोर्ट में जवान दोषी पाए गए है।