महिला अपराधों पर रोकथाम के लिये बनी स्पेशल मॉनिटरिंग सेल

पीड़ित महिलाएं ईमेल और हेल्प लाईन नम्बर पर कर सकेंगी शिकायत

रायपुर | राजधानी समेत प्रदेश में बढ़े अपराधों से नाराज डीजीपी डीएम अवस्थी ने आज पुलिस मुख्यालय में विडियो कॉन्फ्रेंस के जरीए प्रदेश के सभी एसपी,आईजी,डीआईजी की बैठक ली। उन्होंने बताया कि महिला संबंधी अपराधों की प्रभारी मॉनिटरिंग के लिए पुलिस मुख्यालय स्तर पर स्पेशल मॉनिटरिंग सेल फॉर क्राईम अगेंस्ट वूमेन का किया गया है। जिसमें महिलाओं के विरूद्ध घटित होने वाले अपराधों जैसे हत्या, बलात्कार, छेड़छाड़, एसिड अटैक और दहेज मृत्यु जैसे प्रकरणों की मॉनिटरिंग की जायेगी। इस सेल का प्रभारी पुलिस मुख्यालय में डीआईजी श्रीमती नेहा चम्पावत को बनाया गया है। अवस्थी ने प्रत्येक जिले में भी इस प्रकार के सेल के गठन के निर्देश दिये हैं, जिसमें राजपत्रित स्तर के पुलिस अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया जायेगा। जिले में गठित सेल के द्वारा प्रतिदिन महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों की विवेचना की प्रगति रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय भेजी जायेगी।

सेल फॉर क्राईम अगेंस्ट वूमेन का गठन
डीजीपी अवस्थी ने निर्देश दिये कि प्रत्येक थाना में एक महिला सेल का गठन करें जिसमें महिला पुलिस अधिकारी की ड्यूटी लगायें। जिससे पीड़ित महिला आसानी से अपनी बात रख सकें। उन्होंने निर्देश दिये कि जिले में संवेदनशील स्थानों को चिन्ह्ति कर महिला हेल्प लाईन नम्बर 1091 और डायल 112 का होर्डिंग्स/फ्लैक्स लगाकर व्यापक प्रचार-प्रसार करें। ग्रामीण क्षेत्रों में भी उक्त नम्बरों के संबंध में जागरूकता फैलाई जाये। महिला पेट्रोलिंग टीम संवेदनशील स्थानों में लगातार भ्रमण करें एवं किसी प्रकार शिकायत मिलने पर तत्काल कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि राज्य के 6 जिलों रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा एवं रायगढ़ में महिला विरूद्ध अपराध अनुसंधान इकाई संचालित है। इन इकाईयों द्वारा महिला अपराधों की शत-प्रतिशत मॉनिटरिंग कर विवेचना की प्रगति से प्रतिदिन पुलिस मुख्यालय को अवगत कराएं।

हेल्प लाईन नम्बर जारी
डीजीपी अवस्थी ने बताया कि पीड़ित महिला जिले में गठित सेल में प्रभावी कार्यवाही ना होने पर पुलिस मुख्यालय में गठित सेल के हेल्प लाईन नम्बर 9479191667 और ईमेल आईडी smcphq/gmail.com पर संपर्क कर सकती हैं। प्रत्येक 15 दिन में इस सेल द्वारा की गई कार्यवाही की मॉनिटरिंग वे स्वयं करेंगे। इस अवसर पर एडीजी आर.के. विज, अशोक जुनेजा, हिमांशु गुप्ता, रायपुर आईजी आनंद छाबड़ा, डीआईजी ओ.पी. पाल, एआईजी मयंक श्रीवास्तव समेत सभी जिलों के पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।