रायपुर जिले में किया गया भिक्षुको के सर्वे का कार्य,बनेगी नई योजना

काउंसलिंग के साथ पुनर्वास केंद्र तक मिली सहायता

रायपुर | समाज कल्याण विभाग के सहयोग से छत्तीसगढ़ मितवा संकल्प समिति द्वारा रायपुर में भिक्षुकों के सर्वे का काम किया गया। इस दौरान रायपुर शहर की तथा रायपुर शहर के बाहर सभी स्थानों पर रहने वाले भिक्षुकों को चिन्हित किया गया। उन्हें काउंसलिंग के पश्चात पुनर्वास केंद्रों में भर्ती कराया गया। सर्वे का निर्देश जिला कलेक्टर रायपुर के द्वारा दिया गया था। इस सर्वे के लिए समाज कल्याण विभाग द्वारा आवश्यक समन्वय और सहयोग किया गया।

रायपुर में पहली बार भिक्षुक सर्वे
सर्वे के दौरान समिति के सदस्यों ने एक प्रपत्र पर सभी भिक्षुको की जानकारी बिंदुवार भरी गई। सर्वे में मिले बाल भिक्षुओं को भिक्षा वृत्ति से शामिल न करने काउंसिलिंग के माध्यम से परिजनों को समझाइश दी गई। इसके साथ ही हेल्पलाइन नंबर के द्वारा सहायता लेकर भिक्षुकों को पुनर्वास केंद्र रेफर किया गया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में रायपुर पहला जिला है जहां पर इस तरीके की भिक्षुको के सर्वे का काम किया गया।

तृतीय लिंग समुदाय ने निभाई भागीदारी
छत्तीसगढ़ मितवा संकल्प समिति के अध्यक्ष विद्या राजपूत ने बताया कि इस सर्वे में तृतीय लिंग समुदाय के साथ इको फ्रेंडली ग्रुप के कार्यकर्ताओं ने भी साथ दिया। भिक्षुकों से प्रपत्र में निर्धारित 22 बिंदुओं पर जानकारी ली गई। भिक्षुकों के सर्वे के आधार पर भविष्य में सरकार द्वारा योजनाएं भी बनाई जा सकती हैं।