बुजुर्गों का रखें ख्याल, कोरोना टेस्ट में देरी के कारण मृत्यु दर तेजी

हल्के लक्षण दिखने पर भी तुरंत कराएं जांच

रायपुर | कोरोना संक्रमण के मामले पूरी दुनिया सहित भारत में फिर बढ़ रहे हैं। इस समय सतर्क रहना अत्यंत आवश्यक है। चिकित्सक ,विश्व स्वास्थ्य संगठन ,यूनीसेफ सभी बार -बार आगाह कर रहे हैं कि संक्रमण से बचने के लिए अभी सार्वजनिक स्थलों में मास्क पहनना, दूसरों से दो गज की सुरक्षित दूरी रखना, भीड़ से बचना और हाथों की साबुन पानी से सफाई करना जरूरी है।

राज्य में गत सप्ताह के डेथ आडिट रिव्यू में यह तथ्य सामने आया कि मृतकों में 65 प्रतिशत व्यक्ति 60 वर्ष से अधिक उम्र के थे। गत सप्ताह हुई 29 मृत्यु में सें 19 मृतक इसी श्रेणी के थे और कोमार्बिड थे। समिति के सदस्य डाॅ सुंदरानी ने कहा कि इसीलिए बार बार सभी को आगाह किया जाता है कि बुजुर्ग और ऐसे व्यक्ति जिन्हे किसी भी प्रकार की अन्य कोई बीमारी है उन्हे विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए।

उन्होने कहा कि युवा एवं बच्चों को बुजुर्गाें से दूरी रखनी चाहिए क्योंकि वे स्वयं यदि संक्रमित होंगे तो बिना लक्षण वाले हो सकते हैं और प्रतिरोधक क्षमता अधिक होने के कारण ठीक भी हो जाते हैं लेकिन बुजुर्ग उनसे आसानी से संक्रमित हो सकते हैं।

उन्होने कहा कि टी बी ,सांस की बीमारी,अधिकरक्त चाप, डायबिटीज ,कैंसर आदि गंभीर बीमारी वाले व्यक्तियों के परिजनों केा भी उनका ध्यान रखना चाहिए और हल्के लक्षण दिखने पर भी तुरंत कोरोना जांच कराना चाहिए। जल्दी जांच और दवाइयां समय पर मिलने से रिकवरी तेजी से होताी है। ऐसे मरीजों को होम आइसोलेशन में न रख करा अस्पताल में भर्ताी कराना चाहिए ।