छग बजट 2021-22 का मूल मंत्र रहा “गढ़बो नवा छत्तीसगढ़”

CM भूपेश के बजट में कई ऐलान शामिल

रायपुर | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने तीसरे बजट को पेश करने विधानसभा के सदन पहुंचे तो तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया गया। जिसके बाद उन्होंने दन में बजट भाषण पढ़ना शुरू किया।

उन्होंने कहा कोरना संकटकाल के कारण प्रदेश सरकार को राजस्व प्राप्ति में काफी दिक्कतें आई हैं। लेकिन इस चुनौती से निपटने के लिए हमने सब के साथ मिलकर “गढ़बो नवा छत्तीसगढ़” को बरकरार रखा। संकटकाल से निपटने के लिए सरकार के द्वारा सभी व्यवस्थाएं की गई जिसके चलते प्रदेश में सुराजी गांव योजना के तहत ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाने कोई कमी नहीं की गई है।

बजट 2021-22 एक नजर में-

1. बस्तर संभाग के सभी जिलों में बस्तर टाइगर्स नाम से विशेष पुलिस बल का गठन

2. छत्तीसगढ़ी कला , शिल्प , वनोपज , कृषि एवं अन्य सभी प्रकार के उत्पादों तथा व्यंजनों को एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराने के लिए ” सी – मार्ट ” स्टोर की स्थापना

3. शहरों में पौनी पसारी योजना के समान ग्रामीण क्षेत्रों में रूरल इण्डस्ट्रियल पार्क की स्थापना

4 . मत्स्य पालन को कृषि के समान दर्जा दिया जायेगा

5. परंपरागत ग्रामीण व्यवसायिक कौशल को पुनर्जीवित करने 4 नये विकास बोर्डो का गठन – तेलघानी, चर्म, शिल्पकार लौह शिल्पकार एवं रजककार विकास बोर्ड

6. ग्रामीण कृषि भूमिहीन श्रमिकों के लिए नवीन न्याय योजना प्रारंभ की जायेगी

7. तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों के लिए “शहीद महेन्द्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना”

8. पत्रकारों को दुर्घटना जन्य आकस्मिक मृत्यु पर परिवार को 5 लाख की सहायता

9. द्वितीय संतान बालिका के जन्म पर कौशल्या मातृत्व योजना अंतर्गत महिलाओं को 5,000 की एकमुश्त सहायता

10. किसानों को खेतो तक आवागमन सुविधा हेतु मुख्यमंत्री धरसा विकास योजना ‘

11. नवा रायपुर में भारत भवन , भोपाल की तर्ज पर छत्तीसगढ़ सांस्कृतिक परिक्षेत्र की स्थापना

12. श्री राम वनगमन पर्यटन परिसर के लिए 30 करोड़ का प्रावधान

13. स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल योजना के अंतर्गत 119 नये अंग्रेजी स्कूल

14. नवा रायपुर में राष्ट्रीय स्तर के बोर्डिंग स्कूल की स्थापना

15 , पढ़ना लिखना अभियान योजना के लिए 5 करोड . 85 लाख का प्रावधान

16. 7 नवीन महाविद्यालय तथा 3 कन्या महाविद्यालय की स्थापना 14 महाविद्यालयों में स्नातक तथा 15 महाविद्यालयों में पीजी पाठ्यक्रम प्रारंभ

18 , 9 बालक एवं 9 नवीन कन्या छात्रावास की स्थापना

19. 6 नवीन महाविद्यालय भवन निर्माण

20. 2 नवीन आईटीआई की स्थापना

21. 12 नये रेल्वे ओवर बीज , 151 नवीन पुल . 585 सड़कों के निर्माण के लिए कुल 504 करोड़ का नवीन मद प्रावधान

22. नक्सल प्रभावित ग्रामीण क्षेत्रों में 104 सड़क एवं 116 पुल निर्माण के लिए 12 करोड़ का 17 . 19 . प्रावधान

23. नवीन सिंचाई योजनाओं हेतु नवीन मद में 300 करोड़ का प्रावधान

24. नगरीय क्षेत्रों में नई जल प्रदाय योजनाओं के लिए 45 करोड़ का प्रावधान

25. पंडरी रायपुर में 350 करोड़ की लागत से जेम्स एवं ज्वेलरी पार्क की स्थापना

26 , नदियों के किनारे खेतों को सिंचाई की सुविधा के लिए विद्युत लाईन के विस्तार के लिए प्रावधान

27. ग्राम गोढ़ी , जिला बेमेतरा में बायो इथेनाल प्रदर्शनी स्थल संयंत्र की स्थापना

28. 11 नई तहसीले एवं 5 नये अनुविभागों की स्थापना

29. कन्या छात्रावास एवं आश्रमों में महिला होमगार्ड के 2200 नवीन पदों का सृजन

30 , चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कॉलेज दुर्ग का शासकीयकरण

31. राजीव गांधी किसान न्याय योजना हेतु 5,703 करोड़ का प्रावधान

32. कृषक जीवन ज्योति योजना अंतर्गत 2,500 करोड़ का प्रावधान

33. कृषि पंपों के ऊर्जीकरण हेतु 150 करोड़ , सौर सुजला अंतर्गत 530 करोड़ का प्रावधान

34. किसानों को बिना ब्याज का 5,900 करोड़ का अल्पकालीन कृषि ऋण वितरण का लक्ष्य

35. गोधन न्याय योजना हेतु 175 करोड़ का प्रावधान

36. असंगठित श्रमिकों के लिए राज्य स्तरीय हेल्पडेस्क सेंटर की स्थापना

37. छत्तीसगढ़ सड़क एवं अधोसंरचना विकास निगम को 5,225 करोड़ लागत की 3,900 कि.मी. लंबी सड़कों एवं पुलों के निर्माण हेतु 150 करोड़ का प्रावधान

38. मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के लिए 100 करोड़ का प्रावधान

39. एडीबी फेस -3 परियोजना में 825 कि.मी. लंबाई की 24 सड़कों के लिए 940 करोड़ का प्रावधान

40. सिंचाई की 4 वृहद परियोजनाओं अरपा भैसाझार , केलो , राजीव समोदा व्यपवर्तन एवं सोंढूर हेतु 152 करोड़ का प्रावधान

41. पटवारियों के मासिक स्टेशनरी भत्ता में 250 रूपये की वृद्धि

42. स्वच्छता दीदियों के मानदेय को 5,000 से बढ़ाकर 6,000 किया जायेगा

43. नवीन चिकित्सा महाविद्यालय कांकेर , कोरबा एवं महासमुंद के भवन निर्माण हेतु 300 करोड़ का प्रावधान

44. सन्ना , जशपुर , शिवरीनारायण – जांजगीर में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं रिसालो – भिलाई में 30 बिस्तर अस्पताल की स्थापना

45. मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनीक योजना हेतु 13 करोड़ का प्रावधान