बजट सत्र का तीसरा दिन:शराब बिक्री को लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा

सरकारी खजाने में जमा नहीं हुआ का 5.25 करोड़ रुपया

रायपुर | छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र में तीसरा दिन भी हंगामे से शुरुआत हुई। प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने प्रदेश में शराब बिक्री से मिली 5 करोड़ 25 लाख रुपए की राशि अब तक सरकारी खजाने में नहीं जमा किये जाने का कारण सरकार से पूछा। जवाब में आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने चेस्ट रखने वाले यश बैंक प्रबंधन पर गड़बड़ी का आरोप लगाया। मंत्री के जवाब के बाद विपक्ष ने सवालों की बौछार लगा दी। इसकी वजह से प्रश्नकाल के दौरान काफी देर तक हंगामा होता रहा।

भाजपा विधायक नारायण चंदेल ने आबकारी मंत्री से पूछा कि जनवरी 2019 से जनवरी 2021 तक देशी-विदेशी शराब की बिक्री से कितने पैसे मिले। उनमें से कितनी राशि अभी सरकारी एकाउंट में जमा नहीं हो पाई है। जवाब में आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने बताया, पिछले दो वर्षों में देशी शराब की बिक्री से 6279 करोड़ 60 लाख 55 हजार रुपये की आय हुई है। वहीं 5870 करोड़ 51 लाख 28 हजार 930 रुपए की विदेशी शराब बेची गई। आबकारी मंत्री ने बताया, इनमें से महासमुंद जिले से आए पांच करोड़ 25 लाख 98 हजार 650 रुपए की राशि सरकार के एकाउंट में जमा नहीं हो पाई है।

आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने इसके लिए चेस्ट सुविधा देने वाले यश बैंक प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, आडिट में यह गड़बड़ी पकड़ी गई थी। उसके बाद यश बैंक को ब्लैकलिस्टेड कर दिया गया है। बैंक, न्यायालय से स्थगन आदेश लाया है। इसके तहत बैंक से 10.33 करोड़ रुपए की बैंक गारंटी जमा कराई गई है। मंत्री के जवाब पर विपक्ष ने सवालों की झड़ी लगा दिया। भाजपा विधायक नारायण चंदेल ने कहा, राष्ट्रीयकृत बैंकों और सहकारी ग्रामीण बैंकों के रहते हुए सरकार ने यश बैंक में पैसा क्यों जमा किया। जवाब में आबकारी मंत्री ने कहा, यश बैंक पहले से ही सरकार की सूची में शामिल था। उसमें खाता पिछली सरकार ने खुलवाया था।

भाजपा और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के विधायकाें ने यश बैंक पर कार्रवाई की मांग उठाई। भाजपा विधायकों ने महासमुंद जिले की संबंधित प्लेसमेंट एजेंसी पर भी कार्रवाई की मांग की जो सरकारी शराब दुकानों के संचालन के लिए मानव संसाधन उपलब्ध कराती है। जवाब में मंत्री ने कहा, वह पैसा जमा नहीं होगा तो प्लेसमेंट एजेंसी और संबंधित बैंक दोनाें पर कार्रवाई होगी। मंत्री कवासी लखमा ने यस बैंक के लेन देन के जवाब में कहा कि हमने बैंक को ब्लैकलिस्ट किया है। वहीं, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्लेसमेंट एजेंसी को संरक्षण देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यह पहली सरकार है, जो सरकारी खजाने को चूना लगाने का काम कर रही है। नेता प्रतिपक्ष के इस बयान पर सदन में जमकर हंगामा हुआ। 

संबंधित पोस्ट

ब्रेकिंग-निजी अस्पताल में लगी आग में 4 लोगों की हुई मौत

राज्यपाल ने ली कोरोना संक्रमण पर वर्चुअल सर्वदलीय बैठक,सभी दल हुए शामिल

भारतरत्न डाॅ.भीमराव अम्बेडकर की मनाई गई 130 वीं जयंती

हवाई यात्रा से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों को दिखाना होगा कोरोना निगेटिव रिपोर्ट

Video:न्याय योजना पर भाजपा ने तरेरी आंखे,कौशिक ने सरकार को कहा किसान विरोधी

स्कूल बंद के आदेश जारी,कक्षा 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाएं होंगी ऑफलाइन

रेडियोवार्ता लोकवाणी की 16वीं कड़ी में मुख्यमंत्री बघेल ने की नारी शक्ति पर चर्चा

अवैध रेत उत्खनन पर विपक्ष ने विधानसभा में लाया स्थगन प्रस्ताव , सरकार के संरक्षण में रेत माफिया कर रहे हैं खनन-कौशिक , रॉयल्टी और पर्यावरण का हो रहा है नुकसान-रमन , विपक्ष के स्थगन को आसन्दी ने विचाराधीन में रखा, नाराज विपक्ष ने सरकार के खिलाफ लगाया नारा

आत्मसमर्पित नक्सली महिला के आत्महत्या पर भाजपा का स्थगन, विचाराधीन

छत्तीसगढ़ का 21 वां बजट और भूपेश बघेल का ये तीसरा बजट है, बजट लगभग एक लाख करोड़ से ज्यादा का होगा, आज सदन की शुरुआत प्रश्नकाल से होगी, करीब 12:30 बजे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सदन में बजट पेश करेंगे

Video:मुख्यमंत्री कन्या विवाह समारोह में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

Cabinet:भूपेश मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए हैं कई अहम निर्णय