बीजापुर में तेलंगाना कमेटी के तीन नक्सलियों ने किया समर्पण

इनमे से एक तेलंगाना के चेरला डीवीसी  कमेटी का सदस्य और दो कृषि शाखा के सदस्य

बीजापुर| बस्तर संभाग के बीजापुर जिले में आज  तीन नक्सलियों ने समर्पण कर दिया। इनमे से एक तेलंगाना के चेरला डीवीसी  कमेटी का सदस्य और दो कृषि शाखा के सदस्य हैं।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार  समर्पण करनेवाले इन नक्सलियों ने संगठन में प्रताड़ना से तंग आकर और सरकार की नीतियों से प्रभावित होकर यह कदम उठाया है।

सीआरपीएफ डीआई जी ऑपरेशन कोमल सिंह, बीजापुर पुलिस अधीक्षक  कमलोचन कश्यप, डीएसपी ऑपरेशन भावेश समरथ के सामने  समर्पण किया गया|

जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, समर्पण करनेवाले उसूर के चिन्नाउटला निवासी माड़वी आयता सन 2013 से चेरला डीवीसी में सुरक्षा गार्ड के रूप में भर्ती हुआ था। फिर सन  2014 में उसे संगठन का सदस्य बना लिया गया और कवरगटटा में ट्रेनिंग देकर राइफल दी गई थी|

इसी तरह उसूर कस्तुरपाड़, निवासी वेटटी हिंड़मा :​​​​​​​ एक साल पहले नक्सली संगठन में मिलिशिया सदस्य के रूप में भर्ती हुआ। इसे मिलिशिया कमांडर समैया कुरसम ने संगठन में भर्ती कराया था।

जबकि कुहरामी हुंगा जनताना सरकार कमेटी का सदस्य और कृषि शाखा का सदस्य था। एक साल से संगठन में काम कर रहा था। तीनों को सरकार की पुनर्वास नीति के तहत 10-10 हजार रुपए की राशि प्रदान की गई है।

बता दें की बस्तर में नक्सलियों के समर्पण के लिए अभियान जारी है| शासन की योजनाओं से प्रभावित होकर नक्सली मुख्यधारा में लौटने लगे हैं|  बीजापुर में 7 लाख के इनामी नक्सल दम्पति ने कुछ माह पहले समर्पण किया था|

इसी तरह बस्तर के दंतेवाडा जिले में लोन वर्राटू अभियान के तहत समर्पण जारी है|हाल ही में 5 नक्सलियों ने समर्पण किया था| इनमे  से एक की निशानदेही पर पुलिस ने भा री मात्रा में हथियार और  अन्य सामान बरामद किया| पेड़ की खोह से डंप 2 लाख रूपये और सामल बरामद किये | साथ ही एक नक्सल केम्प भी ध्वस्त किया था|