इनामी नक्सली कमांडर सहित तीन नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

‘लोन वर्राटू’ अभियान को मिल रही है सफलता-एसपी

दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा जिला सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। एक इनामी समेत तीन नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। जिनमें एक महिला नक्सली भी शामिल है। 

दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक डॉ.अभिषेक पल्लव के अनुसार  नक्सलियों ने पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण किया। एसपी ने बताया कि विद्रोही पुलिस के पुनर्वास अभियान ‘लोन वर्राटू’ से प्रभावित हुए हैं और माओवादियों की ‘खोखली’ विचारधारा से निराश हो गए हैं।आत्मसमर्पण करने वालों में सुरेश कादती भी शामिल है। वह कई नक्सली घटनाओं में शामिल था। वह 2007 में बिजापुर में रानीबोदली पुलिस चौकी पर हमले के मामले में वांटेड था, जिसमें 55 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गये थे। इसके अलावा वह 2006 में मुरकिनार में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के शिविर पर किए गए हमले के सिलसिले में और 2008 में मोडकपाल में घात लगाकर किए गए हमले के सिलसिले में भी वांछित था। उन्होंने बताया कि कादती के सिर पर तीन लाख रुपये का इनाम था।

जिले में अब तक लोन वर्राटू अभियान के तहत 82 इनामी समेत कुल 319 नक्सली आत्मसमर्पण कर चुके है।