ट्रांसजेंडर विद्या राजपूत को मिला नेशनल लीडरशिप अवार्ड 2020

एचआईवी नियंत्रण कार्यक्रम तथा जागरूकता में किया बेहतरीन कार्य

रायपुर | एचआईवी / एड्स एलाएंस इंडिया और एडस कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन नई दिल्ली द्वारा आयोजित छत्तीसगढ़ की ट्रांसजेंडर कार्यकर्ता विद्या राजपूत को नेशनल लीडरशिप अवार्ड 2020 से नवाजा गया है। नई दिल्ली में हुए समारोह में पूरे भारत से अलग-अलग समुदाय के सामाजिक कार्यकर्ता पहुंचे हुए थे। विद्या राजपूत को यह अवार्ड ट्रांसजेंडर समुदाय को एचआईवी एड्स के प्रति जागरूक और समुदाय को सशाक्त करने के लिए प्रदान किया गया है।

राजधानी रायपुर की रहने वाली विद्या राजपूत ने कहा की यह अवार्ड छत्तीसगढ़ में हो रहे कार्यों की जीत है। इसके लिए उन्होंने ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को धन्यवाद ज्ञापित किया है। उल्लेखनीय है कि विद्या राजपूत ने वर्ष 2009 से एचआईवी एड्स नियंत्रण कार्यक्रम में आउटरीच वर्कर रूप में अपनी सेवाएं देते आ रही हैं। इसी तरह 2013 से उन्होंने ट्रेनर तथा मेंटर की भूमिका में एचआईवी एड्स नियंत्रण कार्यक्रम को सशक्त भी किया। विद्या अब तक छत्तीसगढ़ के 23 संस्थाओं के अंदर एचआईवी जागरूकता हेतु जमीनी कार्यकर्ता तैयार किया है। इसी तरह 2015 में उन्होंने छत्तीसगढ़ में तृतीय लिंग बोर्ड के गठन के लिए सरकार के साथ एडवोकेसी किया था,जिसमे उन्हें सफलता भी मिली है। विद्या राजपूत अभी सक्रिय रूप से ट्रांसजेंडर समुदाय के सशक्तिकरण के लिए कार्य कर रही हैं।

विद्या राजपूत वर्तमान में वे छत्तीसगढ़ मितवा संकल्प समिति नामक सामुदायिक संगठन की अध्यक्ष हैं। नेशनल लीडरशिप अवार्ड 2020 के मिलने पर ट्रांसजेंडर समुदाय के अंदर खुशी का माहौल है। समुदाय के सदस्यों ने विद्या राजपूत को कोटिश;अपनी बधाइयां भी प्रेषित की है।