रायपुर में आयोजित हुआ दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन

देश विदेश से पहुंचे ज्योतिषाचार्यों ने दिया व्यख्यान

रायपुर | नक्षत्र निकेतः फाउंडेशन द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन का दो दिवसीय आयोजन राजधानी रायपुर में किया गया। शुभारम्भ अवसर पर छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, शामिल हुए थे। वहीँ दूसरे और समापन अवसर पर बनारस से पधारे प्रकांड ज्योतिषाचार्य डॉ. चंद्रमौलि उपाध्याय और पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल और कार्यक्रम में नक्षत्र निकेतः फाउंडेशन के अध्यक्ष अजय भाम्बी भी मौजूद रहे। सम्मेलन में देश भर से अनेक ज्योतिषी, शोधार्थी और ज्योतिष शास्त्र के प्राध्यापक जुटें। इस दौराण दो दिनों में अलग-अलग सत्र में ज्योतिष से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा हुई। इसमें ज्योतिष शास्त्र, वैदिक ज्योतिषी, अंक ज्योतिषी, टेरो कार्ड पर आगंतुक प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य एचएस रावत, अनिल वत्स, डॉ.रमेश व्यंगावकर, डॉ.वेणुगोपाल, चंद्रशेखर शास्त्री, जीडी वशिष्ठ, डॉ.वाई राखी समेत अनेक विद्वानो ने व्याख्यान दिया।

विज्ञान की तरक्की की बड़ी वजह ज्योतिष – राज्यपाल
पहले दिन राज्यपाल अनुसुईया उइके ने मंच से सभाजनो को सम्बोधित करते हुए ज्योतिष विज्ञान हमारे देश के प्राचीन इतिहास का हिस्सा के साथ ही अनमोल पूंजी है। राज्यपाल ने कहा कि ज्योतिष आरंभ से ही हमारी शिक्षा व्यवस्था का हिस्सा है। ज्योतिष का संबंध विज्ञान की तरक्की से भी जुड़ा है। भारत में विज्ञान की तरक्की की बड़ी वजह ज्योतिष भी रहा। आज यह नये रूप में सामने आ रहा है। इसमें नई तकनीक जुड़ गई है। अब ज्योतिष शास्त्र का दायरा भी बढ़ता जा रहा है। लोग अपने बच्चे के कैरियर के मार्गदर्शन में या समस्या के समाधान में ज्योतिष की सलाह ले रहे हैं।

ज्योतिष के क्षेत्र में महिलाएं आगे बढे – जोशी
पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी भी पहले ही दिन सम्मेलन में पहुंचे। जहाँ उन्होंने कहा कि हमें दुनिया के अन्य जगह पर होने वाले ज्ञान को ग्रहण करना चाहिए। कम्प्यूटर और अन्य तकनीक को भी अध्ययन का हिस्सा बनाना चाहिए। उन्होंने ज्योतिषों से आह्वान किया कि वे अपने अंदर आत्मविश्वास रखें कि वह जो भी कह रहे हैं, वह सही हैं, उस पर अडिग रहें। इस विज्ञान पर और शोध करें और उल्का पिंड, धूमकेतु इत्यादि के प्रभाव का भी अध्ययन करें। जोशी ने ज्योतिष के क्षेत्र में महिलाओं को आगे बढ़ाने पर भी जोर दिया।

ज्योतिषाचार्य हुए पुरस्कृत
सम्मलेन में चन्द्रमौली उपाध्याय को लाईफटाइम एचीवमेंट से पुरस्कृत किया गया। साथ ही छत्तीसगढ़ के ज्योतिष दक्षिण एशियाई ज्यातिष संघ के प्रांताध्यक्ष डॉ. अनिल तिवारी, विष्णुप्रसाद शास्त्री और दिलीप कुमार सहित देश के अन्य प्रदेशों से आए ज्योतिषों को सम्मानित किया गया।