अबूझमाड़ में घुसे महाराष्ट्र के फोर्स के हाथों दो नक्सली ढेर

मारे गए नक्सलियों की शिनाख्ती नहीं, पीएलजीए सप्ताह मनाने जुटे थे नक्सली

राजनांदगांव। गढ़चिरौली पुलिस ने छत्तीसगढ़ के अबूझमाड़ में घुसकर कल मुठभेड़ में दो नक्सलियों को मार गिराया हैं। मारे गए नक्सलियों की अब तक शिनाख्ती नही हुई हैं। पुलिस ने मौके से चार हथियार भी जब्त किए हैं। बताया जाता है कि करीब 70-80 नक्सलियों का एक बड़ा ग्रुप पीएलजीए सप्ताह मनाने की तैयारी को लेकर बैठक कर रहा था। गढ़चिरौली पुलिस की सी-60 फोर्स ने घने जंगल से घिरे अबूझमाड़ में घुसकर नक्सलियों के कैंप पर धावा बोल दिया। नक्सलियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी हमले में पुलिस ने दो नक्सलियों को ढ़ेर कर दिया। बताया जाता है कि लंबे समय से गढ़चिरौली पुलिस को इस क्षेत्र में नक्सलियों की मौजूदगी की खबर मिल रही थी। पुलिस ने भामरागढ़ तहसील के लाहिरी थाना के अंदरूनी इलाके में धमकते हुए नक्सलियों को घेरने की कोशिश की। जवानों को देखते ही नक्सलियों ने विस्फोट कर हमला बोला।

इस दौरान दोनों ओर से गोलीबारी हुई। पुलिस के बढ़ते दबाव के बाद नक्सली भाग गए। पुलिस का दावा है कि मुठभेड़ में आधा दर्जन नक्सली जख्मी हुए हैं। घायल नक्सलियों की तलाश की जा रही हैं। बताया जाता है कि करीब दो साल पहले 2017 में भी इसी क्षेत्र में गढ़चिरौली पुलिस ने आपरेशन चलाकर नक्सलियो को काफी नुकसान पहुंचाया था। गौरतलब है कि अबूझमाड़ का एक बड़ा हिस्सा छत्तीसगढ़ के नारायणपुर और बीजापुर से जुड़ा हुआ हैं। नक्सलियों के लिए यह इलाका पनाहगाह के रूप में कुख्यात हैं। मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की संबंध में पुलिस सीमावर्ती राज्यों के पुलिस से जानकारी जुटा रही हैं। इस संबंध में गढ़चिरौली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी प्रशांत दिवाते ने कहा कि मृत नक्सलियों की पहचान नही हुई हैं। पुलिस दोनों के आपराधिक रिकार्ड को लेकर जानकारी हासिल कर रही हैं। गढ़चिरौली पुलिस की इस कार्रवाई को आपरेशन “ग्रीनहंट” से जोड़कर देखा जा रहा हैं।

PLGA सप्ताह मनाने का ऐलान
नक्सलियों ने पीएलजीए सप्ताह मनाने का ऐलान किया है। करीब सप्ताहभर तक इस दौरान नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में आवाजाही पर रोक होगी। नक्सलियों की ओर से राजनांदगांव के सीमा से सटे गढ़चिरौली के कुछ गांवों में बैनर-पोस्टर कर पीएलजीए सप्ताह मनाने की अपील की गई है। नक्सली अपने संगठन के वर्षगांठ को मनाने 2 दिसंबर से 9 दिसंबर तक बंद का ऐलान करते हैं। इधर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने थानों को हाईअलर्ट रखा है। खासतौर पर राजनांदगांव के मानपुर, मोहला, औंधी, बकरकट्टा समेत अन्य सीमा में स्थित थानों को कड़ी चौकसी करने के निर्देश दिए गए हैं।