Video:मुख्यमंत्री कन्या विवाह समारोह में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

3229 जोड़ों की शादी से स्थापित हुआ प्रदेश का वर्ल्ड रिकॉर्ड

रायपुर | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज राजधानी रायपुर के बलबीर सिंह जुनेजा इंडोर स्टेडियम परिसर में आयोजित मुख्यमंत्री कन्या विवाह समारोह में शामिल हुए। उन्होंने इस अवसर पर नव दम्पत्तियों को आशीर्वाद और उनके सुखमय जीवन के लिए शुभकामनाएं दी। छत्तीसगढ़ में पहली बार 22 जिलों में एक साथ इस योजना के अंतर्गत सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन किया गया, सभी जिले राजधानी रायपुर में आयोजित समारोह से मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े। इस दौरान मुख्यमंत्री बघेल ने विभिन्न जिले के नवविवाहित जोड़ो से बातचीत कर उन्हें आशीर्वाद प्रदान किया। इन समारोहों में तीन हजार 3,300 जोड़ों का विवाह सम्पन्न हुआ। रायपुर के समारोह में 240 जोड़ों का विवाह सम्पन्न कराया गया। 

इस अवसर पर राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, महिला एवं बाल विकास मंत्री  अनिला भेंड़िया, ससदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक, विधायक धरसींवा अनिता योगेन्द्र शर्मा, विधायक एवं छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, महापौर एजाज ढेबर, छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन और राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल उपस्थित थे। वहीँ कोण्डागांव के समारोह में राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम और विधायक मोहन मरकाम भी उपस्थित थे।   

समाज में फिजूल खर्ची को रोकने सरकार ने ये महती कदम उठाया है। अब इस परम्परा से घर में शादी करने से लाखों रुपए खर्च होने से बचने लगेंगे। राज्य सरकार की ओर से पहले कन्या विवाह योजना के तहत 15 हजार रुपए वर- वधु को दिए जाते थे। मगर सरकार ने अब इसे 25 हजार रूपये कर दिया है। सभी जाति धर्म को मानने वाले लोग अब उच नीच भूलकर इसमें सम्मलित हुए।  ऐसे में इस सामूहिक शादी के दौरान वर वधू ने समाज को नया रास्ता दिखाने का काम किया है।

रायपुर के इंडोर स्टेडियम में सामूहिक विवाह का भव्य आयोजन किया गया। इस सामुहिक विवाह कार्यक्रम में हिंदू, मुस्लिम, ईसाई और बौद्ध धर्म को मानने वाले जोड़ों की शादी करवाई गई।  जिसमें 3 ईसाई और एक मुस्लिम सहित 240 जोड़े विवाह के बंधन में बंधे। प्रत्येक जोड़े को सरकार की ओर से 25 हजार रुपए भावी जीवन के लिए सामान मुहैया कराया। सामूहिक विवाह में पहली बार आम जनता के लिए भी ऑन द स्पाट वैवाहिक प्रमाणपत्र बनाए जाने की भी व्यवस्था रही। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कार्यक्रम में 7 वचनों के साथ परिणय सूत्र में बंधे जोड़ों से 8वां वचन भी लिया। मुख्यमंत्री ने खास तौर पर दूल्हों से कहा कि मैं आपसे सुपोषण का वचन ले रहा हूं, कि आप अपने पत्नी और पूरे परिवार के पोषण पर ध्यान देंगे। जब महिलाएं सुपोषित होंगी तो बच्चे भी सुपोषित होंगे और हम कुपोषण की समस्या को जड़ से मिटा सकेंगे। इसी के साथ छत्तीसगढ़ भी मजबूत होगा।

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने कहा कि लोगों को भ्रम था कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना बंद हो गई, लेकिन कोरोना की वजह से पिछली बार आयोजन नहीं किया गया था. इस बार कोरोना का कहर कम होने की वजह से विवाह का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। 

आयोजन के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 5 जोड़ों को प्रमाण पत्र प्रदान किया। अनिवार्य विवाह पंजी के साथ विभाग की तरफ से प्रमाण पत्र प्रदान दिए  गए। गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की प्रतिनिधि सोनल राजेश शर्मा ने बताया कि इस मौके सभी जिलों को मिलाकर 2195 जोड़े ऑनलाइन और कुल 3229 जोड़ों की शादी हुई जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। 

 

संबंधित पोस्ट

ब्रेकिंग-निजी अस्पताल में लगी आग में 4 लोगों की हुई मौत

राज्यपाल ने ली कोरोना संक्रमण पर वर्चुअल सर्वदलीय बैठक,सभी दल हुए शामिल

भारतरत्न डाॅ.भीमराव अम्बेडकर की मनाई गई 130 वीं जयंती

हवाई यात्रा से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों को दिखाना होगा कोरोना निगेटिव रिपोर्ट

Video:न्याय योजना पर भाजपा ने तरेरी आंखे,कौशिक ने सरकार को कहा किसान विरोधी

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन

स्कूल बंद के आदेश जारी,कक्षा 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाएं होंगी ऑफलाइन

रेडियोवार्ता लोकवाणी की 16वीं कड़ी में मुख्यमंत्री बघेल ने की नारी शक्ति पर चर्चा

Cabinet:भूपेश मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए हैं कई अहम निर्णय

बजट सत्र का तीसरा दिन:शराब बिक्री को लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा

बजट सत्र के दूसरे दिन छत्तीसगढ़ में बढ़ते अपराधों पर विपक्ष का हंगामा

छत्तीसगढ़ की पंचम विधानसभा का दशम सत्र हुआ शुरू,बजट सत्र 26 मार्च तक चलेगा