Video:पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने भूपेश सरकार पर साधा निशाना

न्याय योजना को कहा अन्याय योजना

रायपुर | भाजपा के वरिष्ठ नेता,पूर्व कृषि मंत्री और रायपुर दक्षिण से विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने केंद्र के तीनों कृषि बिल को किसानों के हित में बताया है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन को अब किसानों को खत्म कर देना चाहिए क्योंकि यदि किसान को इस बिल से फायदा नहीं होगा तब आंदोलन करें तो बात समझ में आती है। उन्होंने केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए बिल को किसानों के हितों की रक्षा करने वाला कानून करार दिया है।

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि किसानों को बरगला कर कुछ राजनेता देश में अराजकता फैलाने की पुरजोर कोशिश में लगे हुए हैं। अब हमारे देश के किसानों को यह समझना होगा कि कौन उनका हितेषी है और कौन उनके हित के खिलाफ उन्हें उकसा रहा है। बृजमोहन ने आरोप लगाते हुए कहा कि देश के किसानों को भड़का कर इस आंदोलन को एक आग का रूप दिया है वे कतई सफल नहीं हो पाएंगे।

वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ सरकार पर भी किसानों को लेकर सवालिया निशान लगाया है। उनका सीधा आरोप है कि छत्तीसगढ़ की सरकार राजीव गांधी किसान न्याय योजना नहीं बल्कि अन्याय योजना चला रही है। क्योंकि 1 साल पूरे होने जा रहे हैं अब तक किसानों को अंतर की राशि उनके खातों में सरकार नहीं डाल पाई है। अब किसान दूसरी फसल की समर्थन मूल्य हासिल करेगा, लेकिन उन्हें अब तक छत्तीसगढ़ सरकार ने 25 सौ रुपए देने का जो वादा किया था वह पूरा नहीं कर पाई है। ऐसे में प्रदेश के किसान खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा की भूपेश सरकार प्रदेश के किसानों को अपमानित कर रही है, जिसके चलते प्रदेश में किसानों की खुदकुशी का आंकड़ा बढ़ने लगा है। वहीं उन्होंने कहा कि जब किसान की आत्महत्या की बात सामने आती है तो सरकार खुद को बचाने के लिए सारा तोहमत मृतक किसान और उसके परिवार पर मढ कर मामले को इतिश्री करने की पुरजोर कोशिश में लगी रहती है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल ने यहां तक कि कहा की भूपेश सरकार जब सत्ता में काबिज हुई थी तब से लेकर अब तक 2 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं। लेकिन अपने घोषणापत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं कर पाई है। उन्होंने बेरोजगारी पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि आज प्रदेश के युवा रोजगार के लिए दर-दर भटक रहे हैं लेकिन उन्हें रोजगार नहीं मिल पा रहा है और ना ही सरकार ने अब तक बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया है। इसके साथ ही उन्होंने शराबबंदी पर भी सवाल दागा। उन्होंने कहा कि शराबबंदी कांग्रेस के घोषणा पत्र में प्रमुखता से थी। लेकिन सरकार आज तक शराब को लेकर मौन साधे हुए हैं। वहीं अब शराब प्रदेश में घर-घर सरकार पहुंचाने का काम भी कर रही है। जिससे परिवार में कलह और भी बढ़ता जा रहा है। ऐसे में भूपेश सरकार के 2 साल केवल और केवल जुमलेबाजी में ही गुजर गया है। अब आने वाला 3 साल भी प्रदेश वासी ठगते हुए नजर आएंगे।

संबंधित पोस्ट

Video:मुख्यमंत्री कन्या विवाह समारोह में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

Cabinet:भूपेश मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए हैं कई अहम निर्णय

बजट सत्र का तीसरा दिन:शराब बिक्री को लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा

बजट सत्र के दूसरे दिन छत्तीसगढ़ में बढ़ते अपराधों पर विपक्ष का हंगामा

छत्तीसगढ़ की पंचम विधानसभा का दशम सत्र हुआ शुरू,बजट सत्र 26 मार्च तक चलेगा

छत्तीसगढ़ की पंचम विधानसभा का दशम सत्र आज से हुआ शुरू ,बजट सत्र आज से 26 मार्च तक चलेगा,जिसमे 24 बैठकें होंगी,सत्र से पहले विधानसभा अध्यक्ष ने ली कार्य मंत्रणा समिति की बैठक,बैठक में मुख्यमंत्री,नेताप्रतिपक्ष सहित अन्य सदस्य शामिल हुए

मुख्यमंत्री भूपेश ने धान को बारिश से बचाने कलेक्टरों को दिए सख्त निर्देश

सीएम बघेल के बाद पूर्व मुख्यमंत्री रमन ने वित्त मंत्री सीतारमण को लिखा पत्र

राज्यपाल के अभिभाषण पर शनिवार को भूपेश कैबिनेट लगाएगी मुहर

मैनपाट महोत्सव का आगाज,मुख्यमंत्री भूपेश ने की अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं

Video:छत्तीसगढ़ विधानसभा में 2387 करोड़ रूपए का द्वितीय अनुपूरक बजट पारित

छत्तीसगढ़ विधानसभा में दी गई दिवंगत मोतीलाल वोरा को श्रद्धांजलि