Video : भाजपा नेता अजय चंद्राकर के गोबर वाले बयान पर शैलेश नितिन के कड़े तेवर

गौमांस व्यापार करते पकड़ाये थे भाजपा के नेता - शैलेश

रायपुर | छत्तीसगढ़ सरककर हरेली पर्व से प्रदेशभर में गोधन न्याय योजना शुरू करने जा रही है। जिसे लेकर विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है। भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने ट्वीट पर लिखा की राज्य सरकार गोबर को अब राजकीय चिन्ह ही बना दें। इस पर अब प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने अपने कड़े तेवर दिखते हुए भाजपा पर जमकर निशाना साधा है।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भाजपा नेटा को याद दिलाते हुये कहा कि गौरक्षा के नाम पर करोड़ों रूपयों का घोटाला करने के बाद अंततः गौमांस के व्यापार करने वाले अजय चंद्राकर को आज इस बात की तकलीफ है कि भूपेश सरकार क्यों गाय और गोबर को सम्मान देने की बात कर रही है। इस बात को भुलाना नहीं जा सकता कि परंपरा और संस्कृति की बात करने वाले अजय चंद्राकर, अटल बिहारी वाजपेयी की श्रद्धांजलि सभा में ठहाके लगाते दिखाई दिये थे।

यह सच है कि भारतीय जनता पार्टी ने गौरक्षा के नाम पर प्रदेश भर में गौशालाएं बनवाईं और 15 साल के रमन सिंह सरकार में उनको करोड़ों रुपए का अनुदान भाजपा नेताओं की गौशालाओं को सरकार की ओर से मिलता रहा। लेकिन अंततः भाजपा के नेता गौ सेवा करने वाले नहीं गौमाता को मारकर चमड़े, हड्डी और मांस का व्यापार करने वाले निकले। ऐसा एक से अधिक जगहों पर हुआ। ऐसी पार्टी के नेता अजय चंद्राकर को आज अगर प्रदेश के राजकीय चिन्ह का अपमान करने वाले ट्विट कर रहे हैं और यदि उन्हें गोबर से गंध आ रही है तो यह उनकी और उनकी पार्टी भाजपा की नीति और नीयत का मामला है।

आज भाजपा नेता अजय चंद्राकर को तकलीफ इस बात की हो रही है कि भूपेश बघेल की सरकार नरवा गरुवा घुरुवा बारी कार्यक्रम के तहत गाय को सम्मान दे रही है और अब गोधन न्याय योजना से गोबर खरीदने जा रही है।

दरअसल भाजपा गाय को वोट देने वाली प्राणी के रुप में देखती आई है और दरअसल उसके मन में गाय के प्रति सम्मान का भाव है ही नहीं। अजय चंद्राकर गाय और गोबर का अपमान करने वाले पहले नेता नहीं है। इससे पहले भाजपा के कथित ‘वीर’ यानी विनायक दामोदर सावरकर भी गाय और गोबर के बारे में बेहद अपमानजनक बातें कह चुके हैं। अजय चंद्राकर ने भाजपा और संघ की पाठशालाओं में गाय और गोबर का अपमान ही सीखा है।

त्रिवेदी ने कहा है कि अजय चंद्राकर की टिप्पणी सीधे-सीधे हिन्दू धर्म का, भारतीय परंपरा का और छत्तीसगढ़ की अस्मिता और स्वाभिमान का अपमान है। गोबर को तो बहुत पवित्र माना जाता है। भारत में, हिन्दू धर्म में पंचगव्य में गोबर को सम्मिलित किया गया है। गोवर्धन पूजा के दिन गोवर्धन खुंदाने के बाद गोबर से माथे पर तिलक करते है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार की गोबर खरीदी की योजना से भयभीत हो गयी है। गोबर यदि खरीदा जायेगा तो पशुपालक जानवरों को बांध के रखेंगे। उन्हें गोबर के पैसे मिलेंगे तो जानवरों को भी बेहतर चारा खिलायेंगे। किसानों के खेत को जैविक खाद मिलेगा। मजदूरों को काम मिलेगा। किसान, मजदूर पशुपालक समृद्ध बनेंगे। यदि इन सबको आर्थिक समृद्धि मिलेगी तो छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था मजबूत बनेगी। गांव के छोटे व्यापारी, शहर के व्यापारी, किराना व्यापारी, कपड़ा व्यापारी सब समृद्ध होंगे। छत्तीसगढ़ में व्यापार व्यवसाय बढ़ेगा छत्तीसगढ़ में समृद्धि आयेगी। भाजपा को यही तो बर्दाश्त नहीं है। दरअसल भाजपा का चरित्र ही मजदूर विरोधी, पशुपालक विरोधी, किसान विरोधी और छत्तीसगढ़ विरोधी है।

“गलत लफ्जों को सुनकर खामोश रहकर हामी भर लेना,
बहुत फायदे होंगे इसमें लेकिन अच्छा नहीं लगता”

संबंधित पोस्ट

छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्त करने ‘मुनगा’ पौधारोपण का विशेष अभियान

छत्तीसगढ़ में गोबर ने किया कमाल, समूह की महिलाएं हुई मालामाल

गरीब कल्याण योजना छत्तीसगढ़ में लागू नहीं होने से कांग्रेस ने जताई नाराजगी

Video : मुख्यमंत्री भूपेश ने रायपुरियंस को दी ऑक्सीजोन की सौगात

मनरेगा जॉबकॉर्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार देने में छत्तीसगढ़ देश में प्रथम

खारे पानी की समस्या मिटाने मुख्यमंत्री के निर्देश,सतही जल पर आधारित बनेगी पेयजल योजना

Video : पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने गोबर से की राजकीय चिन्ह की तुलना

छत्तीसगढ़ः निगम-मंडलों में नियुक्ति के लिए बैठकों का दौर जारी

किसानों और पंचायत पदाधिकारियों से गांवों में ‘रोका-छेका‘ प्रथा अपनाने आग्रह

फसलों को सुरक्षित रखने रोका-छेका की व्यवस्था करने मुख्यमंत्री भूपेश की अपील

एनएमडीसी को बड़ा झटका, छत्तीसगढ़ सरकार ने की कार्रवाई

मुख्यमंत्री भूपेश ने केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को लिखा पत्र