Video:विधानसभा में ध्यानाकर्षण में वन्य प्राणी अवैध शिकार का मामला उठा

अंतर्राज्यीय स्तर पर समन्वय बनाने पर होगा विचार-अकबर

रायपुर | छत्तीसगढ़ विधानसभा में आठवें दिन ध्यानाकर्षण के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने वन मंडल खैरागढ़ के अंतर्गत गंडई क्षेत्र के पास जंगलपुर बीट के पैलीमेटा क्षेत्र में स्थित बांध से महज 4 किलोमीटर की दूरी पर 24 फरवरी को मादा तेंदुए का शव मिलने की जानकारी दी। डॉ रमन सिंह ने आसन्दी के माध्यम से वन मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि मादा तेंदुए का जो लाश मिला वह पूरी तरह से क्षत विक्षित था। जिसमें कई चोट के निशान भी थे, पैर सहित दूसरे कीमती अंग भी तेंदुए से गायब पाए गए थे। रमन सिंह ने कहा कि शव के कीमती अंग गायब होने के कारण शिकार की आशंका मानी जा सकती है। उन्होंने बताया ग्रामीणों को जब झाड़ियों के पीछे से बदबू आई तब खोजबीन कर देखा गया तो झाड़ी में क्षत-विक्षत लाश पड़ी मिली। जो मुख्य मार्ग से मात्र 100 मीटर की दूरी पर संरक्षित वन्य प्राणी के अवैध शिकार विभाग की लापरवाही दर्शाता है। रमन सिंह ने कहा इस तरह के कृत्य से आसपास के ग्रामीण काफी आक्रोशित हैं और असंतोष व्याप्त है।

प्रश्न के जवाब में प्रदेश के वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने आसंदी के माध्यम से डॉक्टर रमन सिंह को जवाब देते हुए कहां की पैलीमेटा बांध से लगभग 4 किलोमीटर की दूरी पर तेंदुआ मृत अवस्था में पड़े होने की सूचना वन परीक्षेत्र अधिकारी गंडई को मिली थी। जिसके बाद घटनास्थल पर पहुंचकर मादा तेंदुआ मृत पाए जाने की पुष्टि की गई। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए प्रकरण दर्ज किया गया। साथ ही अचानकमार टाइगर रिजर्व लोरमी से डॉग स्क्वाड को बुलाया गया और जिला स्तरीय तीन सदस्य पशु चिकित्सक की टीम को पोस्टमार्टम के लिए सूचित किया गया। तेंदुए के पोस्टमार्टम के बाद परीक्षण के लिए अंगों के भाग को नमूने के तौर पर सुरक्षित रखा गया और मंत्री ने कहा मृत तेंदुए के 2 पंजे और माथे की चमड़ी गायब होना सरासर गलत है। मंत्री ने कहा कि डॉग स्क्वाड टीम और वन अमले द्वारा कार्यवाही करते हुए दो संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की गई है। इन दोनों आरोपियों से अवैध शिकार में प्रयुक्त सामग्री बरामद की गई। वन मंत्री ने अधिकारियों की तरफदारी करते हुए कहा कि अधिकारियों के द्वारा किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं की गई है और ना ही क्षेत्र में ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। हालांकि उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के द्वारा अंतर्राज्यीय स्तर पर समन्वय बनाने पर विचार करने की बात कही। साथ ही उन्होंने कहा कि यह कॉरिडोर का हिस्सा नहीं है । अवैध शिकार रोकने हर संभव प्रयास की जा रही है और सतत निगरानी भी चल रही है।

 

संबंधित पोस्ट

अवैध रेत उत्खनन पर विपक्ष ने विधानसभा में लाया स्थगन प्रस्ताव , सरकार के संरक्षण में रेत माफिया कर रहे हैं खनन-कौशिक , रॉयल्टी और पर्यावरण का हो रहा है नुकसान-रमन , विपक्ष के स्थगन को आसन्दी ने विचाराधीन में रखा, नाराज विपक्ष ने सरकार के खिलाफ लगाया नारा

छत्तीसगढ़ विधानसभा में 3807 करोड़ 46 लाख रुपए की प्रथम अनुपूरक मांग पारित

छत्तीसगढ़ विधानसभा में तीसरे दिन गरमाया शराब मुद्दा,बहस के साथ हुई हंसी ठिठोली

छग विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, पहले दिन दिवंगत नेताओं को दी गई श्रद्धांजलि

छत्तीसगढ़ विधानसभा में राजीव गांधी की जयंती पर मनाया गया सद्भावना दिवस

महज़ चार दिनों के मानसून सत्र पर भाजपा ने प्रदेश सरकार पर दागे तीखे सवाल

विधानसभा के बजट सत्र में सवालों की बौछार, 14 दिन में पहुंचे 2215 प्रश्न

विधानसभा : जिम चलाने का भी बनाए कानून, आसंदी के सरकार को निर्देश

सदन में गूंजा शराब बिक्री,मंत्री कवासी पर बिफरे विधायक धर्मजीत