मतदाताओं को दी जाएगी मतपत्र एवं मतपेटी से मतदान की जानकारी

राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी कलेक्टरों एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए निर्देश

रायपुर | छत्तीसगढ़ में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव में इस बार मतदाता ईवीएम के बजाय मतपत्रों के द्वारा वोट देंगे। जिसके लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने आम मतदाताओं को मतपेटी और मतपत्र की जानकारी देने का निर्णय लिया है। सभी कलेक्टरों एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को नगरीय निकाय निर्वाचन के मतदान के पहले लोगों को मतपत्र एवं मतपेटी से वोट डालने की प्रक्रिया की जानकारी देने के निर्देश राज्य निर्वाचन आयुक्त ने दिया हैं। आयोग ने सभी कलेक्टरों को पत्र लिखकर मतदान प्रक्रिया का प्रदर्शन करने कहा है। प्रदेश में नगरीय निकाय निर्वाचन के लिए आगामी 21 दिसम्बर को मतदान के मद्देनजर कलेक्टरों को 19 दिसम्बर को शाम पांच बजे तक आम लोगों के लिए इसका प्रदर्शन करने कहा गया है। इसके लिए मास्टर ट्रेनर्स, एनसीसी, एनएसएस और स्काउट गाइड की भी मदद लेने के निर्देश दिए गए हैं। मतपेटी के प्रदर्शन की सूचना प्रदर्शन स्थल पर लगाने कहा गया है।

मतपत्र का होगा उपयोग
वर्ष 2014 के नगरीय निकाय, 2018 के विधानसभा और 2019 के लोकसभा निर्वाचन में ईवीएम के माध्यम से वोट डाले गए थे। इसलिए आयोग ने मतपत्र और मतपेटी से मतदान की प्रक्रिया से लोगों को अवगत कराने इसके प्रदर्शन के निर्देश दिए हैं। नगर निगमों में जोनवार तथा नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों में रिटर्निंग ऑफिसर के कार्यालय या तहसील कार्यालय में मतपेटी व डमी मतपत्र के माध्यम से वोट डालने और मतपत्र को मोड़ने की प्रक्रिया का प्रदर्शन किया जाएगा। प्रदर्शन के लिए स्थल चिन्हांकित कर प्रशिक्षित व्यक्तियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसका नियमित पर्यवेक्षण भी किया जाएगा।

डमी मतपत्र से दी जाएगी जानकारी
आयोग ने डमी मतपत्र में उम्मीदवारों के नाम की जगह वर्णमाला के अक्षर का प्रयोग करने के निर्देश दिए हैं। आयोग द्वारा उम्मीदवारों के लिए आरक्षित प्रतीक चिन्हों से भिन्न प्रतीक चिन्ह इसमें उपयोग करने कहा गया है। एरोक्रॉस मार्क से मतपत्र पर मत का अंकन और मतांकन के बाद इसे मोड़ने (सिंगल या डबल लाइन होने पर) के तरीके की जानकारी प्रदर्शन के दौरान दी जाएगी। मतदान प्रक्रिया के प्रशिक्षण के लिए आयोग ने अलग मतपेटियों के चिन्हांकन के निर्देश दिए हैं। इन मतपेटियों का उपयोग मूल निर्वाचन के लिए नहीं किया जाएगा। प्रदर्शन स्थल पर रजिस्टर संधारित कर जिन मतदाताओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है, उनकी जानकारी दर्ज की जाएगी। प्रशिक्षण के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मतपेटियों को प्रशिक्षण के बाद सुरक्षित अभिरक्षा में तहसील, जोन कार्यालय या थाने में रखा जाएगा।

संबंधित पोस्ट

राजनांदगांव ग्रामीण जिला अध्यक्ष नवाज खान के खिलाफ विधायक छन्नी साहू ने लगाया आरोप

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने की प्रेक्षकों से चर्चा, कहा- नए प्रावधानों के तहत करे काम

151 निकायों में 66.41 फीसदी मतदान, 6 वार्डों में निर्विरोध पार्षद…

गढ़चिरौली में एसपीओ की नक्सल हत्या

निकाय चुनाव : रायपुर जिले में 9 बजे तक 10.87 प्रतिशत मतदान, अफसरों ने डाले वोट

नगरीय निकाय निर्वाचन के मतदान में ये दस्तावेज होंगे मान्य

निकाय चुनाव : बिलासपुर में 109 और रायपुर में 91 प्रत्याशियों को नोटिस

भाजपा करवाएगी रामलला के दर्शन,संकल्प पत्र में किया शामिल

चिरमिरी नगर निगम : कांग्रेस-भाजपा में घमासान

निकाय चुनाव : रायपुर जिले में सबसे ज्यादा 1184 अभ्यर्थी, मैराथन प्रचार शुरु

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने ली राजनीतिक दलों की बैठक नए नियमों की दी जानकारी

नगरी निकाय चुनाव : 21 दिसंबर को मतदान, 24 को मतगणना