Video:मुक्तिधाम में गुजर-बसर करने वाली महिला को महिला आयोग ने दिया सहारा

रायपुर | प्रदेश के कोरिया जिले की एक महिला के मुक्तिधाम में गुजर बसर करने के मामले में छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग ने संज्ञान लिया है। रायपुर एवं कोरिया जिला के कांग्रेस के सदस्यों द्वारा मुक्तिधाम में गुजर-बसर करने वाली महिला की जानकारी आयोग की अध्यक्ष डाॅ. किरणमयी नायक को दी गई। 

मामला संज्ञान में आते ही महिला आयोग अध्यक्ष डाॅ. किरणमयी नायक ने त्वरित पहल करते हुए कोरिया जिले के कलेक्टर अवगत कराया। जिसके बाद मनेन्द्रगढ़ एसडीएम प्रशासनिक अमले के साथ मुक्तिधाम पहुंची। वहां महिला से मुलाकात कर उसकी बीमारी की जानकारी ली जिसके बाद उसे मनेंद्रगढ़ से सामुदायिक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों की देखरेख में उनका उपचार चल रहा है वही प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि यदि डॉक्टर ,महिला को इलाज के लिए बाहर रेफर करते हैं तो वहां भी महिला आयोग एवं प्रशासनिक अमला के सहयोग से हर संभव उनका सहयोग किया जाएगा। 

पीड़ित महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया  

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डाॅ. किरणमयी नायक ने कहा कि कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ में एक महिला के मुक्तिधाम में बीमार हालात में पड़े रहने की जानकारी जैसे ही मिली त्वरित कार्रवाई करते हुए कलेक्टर कोरिया को निर्देशित किया गया था। महिला की स्वास्थ्य भी ठीक नहीं थी। तत्काल उस महिला को उचित चिकित्सा व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्थाएं प्रदान करने के लिए भी कहा गया। जिसके बाद महिला का इलाज प्रारंभ हो पाया है। बेहतर इलाज के लिए उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है। साथ ही उसकी देखरेख की जाएगी अगर स्वास्थ्य में सुधार नहीं होता है तो उन्हें और बेहतर इलाज के लिए राजधानी रायपुर रेफर कराया जाएगा।

परिवार ने छोड़ा साथ 

सोशल मीडिया में भरतपुर  विधानसभा के में आने वाले ग्राम पंचायत चैघडा के शांति नगर में रहने वाली बेबी सारथी की दास्तान सुनकर ऐसा कौन होगा जिसकी रूह ना कहा जाए। दरअसल बेबी सारथी के पति जीतू सारथी की मौत बीते 8 महीना पहले हो गई थी। पति की मौत के बाद परिवार के लोगों ने बेबी सारथी का ध्यान देना बंद कर दिया .इस दौरान वह गंभीर बीमारी से पीड़ित हो गई। जिसके बाद उसके बच्चों और उसकी सास ने उसे मुक्तिधाम में ले जाकर छोड़ दिया। मुक्तिधाम परिसर के नजदीक बने शेड  में बीते 5 महीने से एक ही खाट पर पड़े पड़े वह मल मूत्र का त्याग करती है। उसके बिस्तर के नीचे गंदगी का अंबार लगा हुआ है।उसी खाट पर खाना खाती है और उसी पर सोई रहती है.लेकिन इतनी गंदगी में भला उसे नींद कहां आती है और  लेटे लेटे उसके पूरे शरीर में घाव भी हो गए हैं। आसपास गुजरने वाले लोग किसी तरह से नाक दबाकर वहां से गुजर जाते हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि वह महिला किस तरह वहा पर पड़ी होगी। अब जिला प्रशासन ने समाज कल्याण विभाग को आगे उनकी देखरेख के लिए निर्देशित किया है।

देखिये मार्मिक वीडियो – 

 

 

शेयर
प्रकाशित
Swaroop Bhattacharya

This website uses cookies.