सोशल मीडिया में कोरोना संक्रमण को लेकर बडा बवाल

अलग अलग राज्य से आ रहे लोगों को क्वारेंटाइन करने पर सवाल

चंद्रकांत पारगीर, कोरिया। कोरिया जिले में पहला कोरोना पॉजिटिव केस के सामने आने पर पूरा प्रशासन सकते है, तो दूसरी ओर केस सामने आने पर पूरे जिले भर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

हर कोई जिले में कोरोना का संक्रमण आने को लेकर बडा परेशान नजर आ रहा है, वहीं जिले भर में क्वारेेटाइन किए लोंगों की सुरक्षा और उनकी देखरेख को लेकर बरती जा रही लापरवाही उजागर हो गयी है।

कोरिया जिले में सेाशल मीडिया में कोरोना संक्रमण को लेकर बडा बवाल मचा हुआ है। जिले में लगातार अलग अलग राज्य से आ रहे लोगों को क्वारेंटाइन करने को लेकर लोग प्रशासन को आगाह कर रहे है, ताकि ऐसे लोगों को अन्य लोगो से अलग रखकर संक्रमण फैलने से रोका जा सके।

दूसरी ओर चिरमिरी के हल्दीबाडी को प्रशासन ने पूरी तरह से सील कर दिया है, परन्तु 28 दिन के होम क्वारेंटाइन में रखे गए युवक पर बरती गई लापरवाही कई सवाल खडे कर रही है।

कोरोना संक्रमण आखिर कैसे
चिरमिरी में पॉजिटिव मिला मरीज 7 मई को फतेहपुर गया, उसको विधायक की अनुशंसा पर कलेक्टर कोरिया ने अनुमति प्रदान की। जबकि दूसरे राज्य के लिए सरकार से अनुमति लेने की बात कही जा रही है।

दो माह से उसकी पत्नी और उसका बालक फतेहपुर में ही थे, दोनों को लेकर 10 घंटे के बाद 8 मई को वो कोरिया वापस आ गया, जांच में उसकी पत्नी, बच्चा और ना ही ड्रायवर में कोरोना के लक्षण पाए गए और ना ही टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव आया, सिर्फ उसी का पॉजिटिव निकला,

ऐसा तब जब ना तो पूरे रास्ते कोई होटल खुली हुई है और ना ही कोई ढाबे, ऐसे में फतेहपुर से कोरोना के आने पर कई सवाल खडे हो रहे है, 10 घंटे के आने जाने के सफर में कैसे अचानक वो कोरोना पॉजिटिव हो सकता है।

इस दौरान वो किसके संपर्क में आया ये बडा सवाल अब भी उलझा हुआ है। प्रशासन को फतेहपुर जाने और आने में उसके संपर्क का भी पता लगाना चाहिए।

गंभीर लापरवाही
कोरोना पॉजिटिव मरीज के लौटने पर उसे सेंटर क्वारेंटाइन करना था, वो भी 28 दिन का क्वारेंटाइन किया गया है। परन्तु पत्नी की तबियत का हवाला देकर उसे होम क्वारेंटाइन कर दिया गया, इस दौरान मरीज को रोजाना उसकी हाजरी और देखरेख में पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गंभीर लापरवाही बरती। जो पूरे समय उसका हालचाल जानने नहीं गए, जिसका परिणाम यह हुआ कि उसने अपनी सैलून की दुकान खोल ली और क्रिकेट भी खेलता रहा और सेवंई भी बांटता रहा।

22 लोगों को साथ खेला क्रिकेट
चिरमिरी में आया कोरोना पॉजिटिव मरीज की सूची में ऐसे 22 लोगो के नाम है जिन्होने उसके साथ लॉक डाउन में क्रिकेट खेला, इसके अलावा कुछ लोगों से उसकी ग्राउंड मे मुलाकात भी हुई। इस दौरान उससे मैदान में एक विधायक प्रतिनिधि भी मिला, उन्हें भी स्वास्थ्य विभाग ने क्वारेंटाइन कर दिया है।

साथ लाया 2 क्विंटल सेंवई
विश्वस्त सूत्रों की माने तो 10 घंटे के सफर के बाद जब उक्त कोरोना संक्रमणधारी चिरमिरी पहुंचा तो अपने साथ बोलेरों के पीछे 2 क्विंटल सेवंई लेकर आया, लौटने के बाद उसने कई लोगों के घर सेंवई बांटी भी, ऐसा कई दिनों तक किया गया है। हलांकि प्रशासन के पास कुछ लोगों के नाम है। परन्तु अभी ऐसे कई लोगों की सूची तैयार करने में प्रशासन लगा हुआ है जिन्होने उससे सेंवई खरीदी है।

संबंधित पोस्ट

लौट रहे मजदूरों से पुनः कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की स्पीड में आई कमी, मिले 12 हजार

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण हुआ कम, 22.57 फीसदी है संक्रमण दर

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का दर हुआ 25.3 फीसदी,रफ्तार में आई कमी

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का सिलसिला बरकरार,वर्चुअल ओपीडी शुरू

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण रफ्तार कम, रिकवरी रेट में इजाफा

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के रफ्तार में आई तेजी,मिले 16750 नए संक्रमित

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण से जंग जीतने वालों की संख्या में हुआ इजाफा

CORONA:लॉकडाउन के बावजूद अब तक नहीं टूटी कोरोना संक्रमण की चेन

अभिनेता सोनू सूद कोरोना से संक्रमित

नवजात शिशु, युवा इस नई लहर के कोरोना संक्रमण से ग्रसित!

कोरोना संक्रमण की नई लहर और लॉकडाउन की चिंताएं