छत्तीसगढ़ की औसत पाॅजिटिविटी दर 4.8 प्रतिशत,मॉर्टिलिटी में गिरावट

कोरोना संक्रमण से बचने अभी भी सावधानी जरूरी- मुख्यमंत्री

रायपुर | छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी दर लगातार घट रही है। बीते 24 घंटे में प्रदेश में पाॅजिटिविटी दर 4.8 प्रतिशत है। प्रदेश भर में हुए 72 हजार 031 सैंपलों की जांच में से 3506 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

बीते दो महीने में सबसे कम संक्रमण दर

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति में लगातार सुधार आ रहा है। इस पर नियंत्रण के लिए राज्य शासन द्वारा उठाए जा रहे प्रभावी कदमों से पाॅजिविटी दर में दिन-ब-दिन गिरावट आ रही है। अभी प्रदेश की पाॅजिटिविटी दर घटकर 5.64 प्रतिशत पर पहुंच गई है। पिछले दो महीने के दौरान यह संक्रमण की सबसे निम्न दर है। पिछली बार 24 मार्च को पाॅजिटिविटी दर 5.64 प्रतिशत थी। अभी प्रदेश के 28 में से 25 जिलों में संक्रमण की दर दो प्रतिशत से आठ प्रतिशत के बीच है।

प्रदेश की रिकवरी रेट में वृद्धि 

प्रदेश में बीते 24 घंटे में 3506 नये मरीज मिले हैं, तो वहीं प्रदेश में रिकवरी रेट तेज रफ़्तार से बढ़ी है। जिसमें 7443 मरीजों को संक्रमण से निजात मिला है। प्रदेशभर में मौत की संख्या में भी उल्लेखनीय कमी आई है। एक दिन में 77 कोरोना पीड़ित मरीजों ने दम तोड़ा है। ये आंकड़ा प्रदेश के लिए रहत भरी है।

जिलेववार आंकड़ों पर नजर डालें तो सरगुजा जिले में सबसे ज्यादा संक्रमण की स्थिति है। सरगुजा में सबसे ज्यादा 290 मरीज मिले हैं, जबकि सुरजपुर में 276, रायगढ़ में 238,बलरामपुर में 236, रायपुर में 209 और बिलासपुर में 123 नये मरीज मिले हैं। वहीँ अन्य जिलों में भी कमोबेश स्थिति नियंत्रण में दिखाई दे रही है। 

संक्रमित मरीजों की मत की बात की जाये तो रायगढ़ में बीते 24 घंटे में सबसे अधिक 12 लोगों की मौत हुई है। वहीँ रायपुर में 7, जशपुर में 6, दुर्ग में 6 लोगों की मौत सहित प्रदेशम में कुल 77 मरीज संक्रमण से मृत घोषित किये गए हैं। 

मुख्यमंत्री की अपील 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति के संबंध में प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा है कि इससे कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भीबचाव के लिए अभी भी हमें सतर्क रहने और सावधानी बरतने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का प्रकोप अभी कम हुआ है। संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है, परंतु यह पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इस बात का  हम सबको भलीभांति ध्यान रखना है और कोरोना एप्रोप्रियेट बिहेवियर को छोड़ना नहीं है बल्कि इसको उस वक्त तक अपने दैनिक जीवन में अपनाएं रखना है, जब तक यह पूरी तरह खत्म न हो जाए।

सीएम बघेल ने प्रदेश के नागरिकों से अपील की है कि यह समय सतर्क रहकर अपनी जिम्मेदारियां वहन करने का है। हम धीरे-धीरे लॉकडाउन की स्थिति से बाहर निकल कर पहले की भांति सामान्य कामकाज की और लौट रहे हैं। यह समय सबसे अधिक सावधानी रखने का है। इस समय हमें बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करना है। हमें अपनी, अपने परिवार की और अपने राज्य के निवासियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखना है। उन्होंने कहा कि आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें, घर से बाहर निकलते समय, ऑफिस, बाजार, फैक्ट्री, खेत, खलिहान की ओर जाते समय पूरी सुरक्षा और सावधानी रखें। घर से बाहर निकलते समय हमेशा मास्क पहनें और लोगों से एक निश्चित दूरी बनाये रखें। हाथों को बार-बार साबुन से या सैनिटाईजर के उपयोग से साफ करते रहें।

संबंधित पोस्ट

Covid-19:छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार बदस्तूर जारी

छत्तीसगढ़ में 54 हजार 144 सैम्पलों की हुई जांच,पाॅजिटिविटी दर 2.9 प्रतिशत

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी 3.1 फीसदी के साथ 1886 मिले नए मरीज

प्रदेश की औसत पाॅजिटिविटी दर 3.7 प्रतिशत,रिकवरी में हुई वृद्धि

भारत में 9 अप्रैल के बाद सबसे कम 1.52 लाख कोरोना मामले सामने आए

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी दर पहुंचा 3.8 प्रतिशत,सैंपलों की जांच में भी आई कमी

छत्तीसगढ़ में संक्रमण की रफ्तार को रोकने में दवा किट बनी मददगार

Covid-19:छत्तीसगढ़ में कोरोना का चेन टूटा और रिकवरी दर बढ़ी

पाॅजिटिविटी और मॉर्टिलिटी की दरों में आई कमी,रिकवरी ग्राफ हुआ तेज

छत्तीसगढ़ में 8 प्रतिशत पर कोरोना पाॅजिटिविटी दर,मौत की रफ़्तार बरकरार

छत्तीसगढ़ में 69 हजार 873 सैम्पलों की जांच में पाॅजिटिविटी दर 9 प्रतिशत पहुंची

छतीसगढ़ में कोरोना पाॅजिटिविटी दर में आई उल्लेखनीय गिरावट