दुर्ग जिले में कलेक्टर ने दिया 6 अप्रैल से एक सप्ताह लॉकडाउन का आदेश

लगातार जारी रहेगा कोरोना वेक्सिनेशन में छूट

दुर्ग | छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के बढ़ते नजर लॉकडाउन पर सरकार का रुख काफी सख्त दिखाई दे रहा है। आज दुर्ग और बेमेतरा कलेक्टर ने लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। दुर्ग कलेक्टर ने 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन और बेमेतरा कलेक्टर ने आज से ही दोपहर 2 बजे के बाद लॉकडाउन लगने की घोषणा कर दिया है। 

दुर्ग में कंपलीट लॉकडाउन

दरअसल दुर्ग और बेमेतरा जिले में सबसे अधिक संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। साथ ही मौत के आंकड़े में भी इजाफे को देखते हुए कलेक्टर ने लॉकडाउन का आदेश दे दिया है। मुख्यमंत्री ने गुरुवार रात ही सभी कलेक्टर को जिले की संक्रमण स्थिति को देखते हुए लॉक डाउन का निर्णय लेने की छूट दे दी थी। यही कारण है कि दुर्ग में संक्रमण स्थिति को देखते हुए कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज सुबह ही ये आदेश जारी कर दिया है। जिसमे 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन के निर्देश दिए गए हैं। कलेक्टर भुरे ने आम लोगोने से लॉकडाउन के मद्देनजर सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि जिले में संक्रमण की रफ़्तार तेज होने के कारण यह निर्णय बहुत जरूरी है। एक सप्ताह के लॉकडाउन से पुरे जिले बढ़ रहे संक्रमण को रोकने का पूरा प्रयास किया जायेगा। जिससे आने वाले समय में नागरिकों को राहत मिल सकेगी।

वैक्सीनेशन नहीं होगा बाधित 

दुर्ग कलेक्टर डॉ.भुरे ने कोविड टीकाकरण को यथावत जारी रखने सभी सम्बंधित अधिकारीऔर कर्मचरियों से कहा है। ताकि लॉकडाउन के मद्देनजर टीकाकरण किसी प्रकार बाधित न हो। उन्होंने कहा कि टीकाकरण की सुचारू व्यवस्था सभी केंद्रों में की गई है। साथ ही अधिकारियों को निर्देशित भी किया गया है कि टीकाकरण में किसी भी प्रकार की कोताही ना बरता जाए। यदि किसी प्रकार की कोताही बरती जाती है तो अधिकारियों पर गाज गिरना भी तय है।

इसे पढ़ें-शुरू हुआ स्कूलों का नया सत्र, सीबीएसई ने जारी किया सिलेबस 

बेमेतरा भी लॉकडाउन सक्रीय

बेमेतरा में कलेक्टर शिव अनंत तायल ने निर्देश जारी कर दोपहर 2 बजे के बाद टोटल लॉक डाउन लगाने निर्देश दे दिया है। यानी सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक ढील रहेगी। इस बीच लोग अपने जरुरी सामान का लेनदेन कर सकेंगे। इसमें भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखने की हिदायत भी दी गई है। नियम की अवहेलना करने पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। बेमेतरा में भी संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जिसे देखते हुए कलेक्टर ने ये निर्णय लिया है।

दुर्ग में बढ़ता आंकड़ा 

छत्तीसगढ़ में कोरोना ने दुसरे लहर में तांडव मचा दिया है। जिससे सभी चिंतित हैं। बीते 24 घंटे में प्रदेशभर में 4617 संक्रमितों की पुष्टि की गई है। वहीँ रायपुर में सबसे अधिक 1327 मरीज मिले हैं। वहीँ दुर्ग में 996 मरीजों की पुष्टि हुई। संक्रमितों की हुई मौत में भी रायपुर में 9 और दुर्ग में 7 का आंकड़ा है। यही कारण है कि दुर्ग कलेक्टर ने जिलेभर में एक सप्ताह का लॉकडाउन लगाया है,जिससे सामाजिक दुरी होने से संक्रमण जिले में कम हो सकेगा।

संबंधित पोस्ट

छत्तीसगढ़ में 54 हजार 144 सैम्पलों की हुई जांच,पाॅजिटिविटी दर 2.9 प्रतिशत

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी 3.1 फीसदी के साथ 1886 मिले नए मरीज

प्रदेश की औसत पाॅजिटिविटी दर 3.7 प्रतिशत,रिकवरी में हुई वृद्धि

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी दर पहुंचा 3.8 प्रतिशत,सैंपलों की जांच में भी आई कमी

लॉकडाउन में फर्जी अधिकारी बन उगाही करना पड़ा महंगा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ में संक्रमण की रफ्तार को रोकने में दवा किट बनी मददगार

Covid-19:छत्तीसगढ़ में कोरोना का चेन टूटा और रिकवरी दर बढ़ी

छत्तीसगढ़ की औसत पाॅजिटिविटी दर 4.8 प्रतिशत,मॉर्टिलिटी में गिरावट

पाॅजिटिविटी और मॉर्टिलिटी की दरों में आई कमी,रिकवरी ग्राफ हुआ तेज

छत्तीसगढ़ में 8 प्रतिशत पर कोरोना पाॅजिटिविटी दर,मौत की रफ़्तार बरकरार

लॉकडाउन में छूट का मिला लाभ,CM भूपेश ने लोगों से सावधानी रखने की अपील

छतीसगढ़ में कोरोना पाॅजिटिविटी दर में आई उल्लेखनीय गिरावट