Corona infection : कोरोना संक्रमित मरीज राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज में शिफ्ट

दर्जनभर लोगों के संपर्क में था मरीज, सभी भेजे गए क्वांरेंटाइन सेंटर

प्रदीप मेश्राम, राजनांदगांव। कोरोना से संक्रमित (Corona infection) मरीज का राजनांदगांव (Rajnandgaon) मेडिकल कॉलेज में कड़ी निगरानी के बीच उपचार चल रहा है। कल भरकापारा क्षेत्र में एक युवक को कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। कलेक्टर जेपी मौर्य ने स्वास्थ्य विभाग को फौरन युवक को तत्काल अपनी निगरानी में लिया। बताया गया है कि राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज मेें बनाए गए आईसोलेशन कक्ष में युवक का लगातार उपचार किया जा रहा है।

बताया गया है कि युवक ने स्वास्थ्य अधिकारी को दिए जानकारी में यह भी स्वीकार किया है कि वह करीब दर्जनभर लोगों से मेल-मुलाकात कर चुका है। खासतौर पर उसके निवास में घरेलू काम करने वाली महिला और उसकी सुपुत्री से उसका संक्रमण के दौरान नजदीकी संपर्क रहा। इसके अलावा युवक ने शहर के एक सेलून में भी सेविंग और हेयर कटिंग कराई। स्वास्थ्य विभाग उक्त सेलून को भी सैनेटाइज कर रहा है। साथ ही युवक के करीबी मित्रों को भी स्वास्थ्य विभाग ने क्वारेंटन सेंटर भेजा है।

बताया जाता है कि विदेश से सैर कर लौटे युवक कई सार्वजनिक स्थलों में भी घूमते देखा गया। बताया गया है कि प्रशासन की सख्ती के बाद ही युवक सामने आया। उसके बाद उसे क्वारेंटान सेंटर भेजा गया। जांच हेतु लिए गए रक्त में कोरोना के पाजिटिव लक्षण पाए गए। इधर स्वास्थ्य विभाग ने कलेक्टर के निर्देश के बाद भरकापारा क्षेत्र को लॉकडाउन कर दिया है। राजनांदगांव में लालबाग के बाद यह दूसरा इलाका है जिसे पूरी तरह से लॉकडाउन किया गया है।

इस संबंध में सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी ने बताया कि युवक के जानकारी के आधार पर दर्जनभर लोगों को क्वारेंटाईन सेंटर भेजा गया है। युवक से अन्य लोगों से किए गए संपर्कों की जानकारी भी ली जा रही है। इधर कलेक्टर जेपी मौर्य ने भरकापारा का दौरा कर पूरे इलाके को लॉकडाउन करने का निर्देश दिया है। कलेक्टर ने वार्ड में घूमकर रहवासियों को चेताया है कि विदेश से लौटने की खबर को दबाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके बावजूद शहर में अब भी कई ऐसे लोग हैं, जो विलायत से लौटने के बावजूद घरों में दुबके हुए हैं। ऐसे लोगों की भी कलेक्टर ने खोजबीन करने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया है।