छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के रफ्तार में आई तेजी,मिले 16750 नए संक्रमित

संक्रमण से मौत का आंकड़ा रिकॉर्ड पार

रायपुर | छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मीटर में और ज्यादा रफ्तार आ गई है। सोमवार के बाद संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता हुआ ही नजर आ रहा है। शासन प्रशासन ने जहां कोरोनावायरस को ब्रेक करने के लिए लॉक डाउन का सहारा लिया। लेकिन यह सहारा भी टूटता दिखाई दे रहा है। हालांकि शासन की ओर से किसी भी प्रकार की कमी नहीं की जा रही है। स्वास्थ्य अमले के साथ साथ नगरीय प्रशासन और जिला प्रशासन भी कोरोना की रफ्तार में ब्रेक लगाने पुरजोर कोशिश कर रही है। 

नए संक्रमित 16 हजार पार 

प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना की कहर एक बार फिर चरम पर पहुंची। सारे पिछले रिकॉर्ड को तोड़ते हुए नए संक्रमित मरीज 16750 मिले। वही मौत के आंकड़े ने भी 197 को पार कर चुका है।  15051 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे है। हालांकि बीते 24 घंटे में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ी है जो 55 हजार पहुंच चुकी है। स्वास्थ्य विभाग का मानना है जितनी ज्यादा टेस्टिंग होगी उतनी ज्यादा पॉजिटिव प्रकरण की संभावना बनी रहती है।

कई जिलों में कोरोना बेकाबू 

छत्तीसगढ़ में कोविड-19 की जिलेवार स्थिति भी काफी बिगड़ी हुई है। आज भी रायपुर टॉप पर रहा, जहां 3035 संक्रमित मरीज मिले और 65 मरीजों की मौत हुई है। वही दुर्ग दूसरे स्थान पर 1759 मरीज मिले और 13 मरीजों की मौत हुई।  तीसरे स्थान पर बिलासपुर है, जहां से 1117 मरीजों की पुष्टि हुई है और 31 मरीजों की मौत हुई। राजनांदगांव चौथे स्थान पर रहा, जहां 1024 संक्रमित मरीज मिले। राहत भरी बात यह है कि यहां किसी मरीज की मौत नहीं हुई। इसके बाद रायगढ़ ने पांचवा स्थान बनाया, जहां 931 संक्रमित मरीज मिले और 7 मरीजों की मौत हुई। ऐसे ही अन्य जिलों में भी कोरोना संक्रमण की स्थिति बढ़त की ओर दिखाई दे रही है। जिसमें बस्तर में पागल से ज्यादा मरीजों की पुष्टि हो रही है।

पूरे आंकड़ों के आधार पर प्रदेश भर में कोरोना पॉजिटिव प्रकरण की संख्या अब 605568 हो चुकी है। होम आइसोलेशन और अस्पताल से  डिस्चार्ज हुए लोगों की संख्या 470339 है। वही कुल मौत 6674 को पार कर लियाहै। इस तरह वर्तमान में कोरोना के एक्टिव मरीज 121555 है जो इलाज रत है।

वैक्सीनेशन पर जोर

शासन प्रशासन के द्वारा बढ़ते संक्रमण को रोकने पूरा प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश भर में लगभग सभी जिलों में टोटल लॉकडाउन लगाकर संक्रमण की चेन को तोड़ने की पुरजोर कोशिश तो की ही जा रही है। इसके साथ ही कोवैक्सीन और कोविशिल्ड वैक्सीनेशन पर भी जोर दिया जा रहा है। प्रदेश भर में गुरुवार को 64875 लोगों को टीकाकरण किया गया है। इसमें बलौदाबाजार और सुकमा में सबसे अच्छी जागरूकता दिखाई दी। वही रायपुर राजधानी होने के बावजूद भी टीकाकरण के प्रति लोगों में जागरूकता कम दिखाई दे रही है। ग्रामीण अंचलों में भी टीकाकरण को लेकर जागरूकता अभियान चलाई जा रही है, जिससे कोरोना संक्रमण की रफ्तार को रोका जा सके।

 

संबंधित पोस्ट

छत्तीसगढ़ में 54 हजार 144 सैम्पलों की हुई जांच,पाॅजिटिविटी दर 2.9 प्रतिशत

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी 3.1 फीसदी के साथ 1886 मिले नए मरीज

प्रदेश की औसत पाॅजिटिविटी दर 3.7 प्रतिशत,रिकवरी में हुई वृद्धि

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी दर पहुंचा 3.8 प्रतिशत,सैंपलों की जांच में भी आई कमी

छत्तीसगढ़ में संक्रमण की रफ्तार को रोकने में दवा किट बनी मददगार

Covid-19:छत्तीसगढ़ में कोरोना का चेन टूटा और रिकवरी दर बढ़ी

छत्तीसगढ़ की औसत पाॅजिटिविटी दर 4.8 प्रतिशत,मॉर्टिलिटी में गिरावट

पाॅजिटिविटी और मॉर्टिलिटी की दरों में आई कमी,रिकवरी ग्राफ हुआ तेज

छत्तीसगढ़ में 8 प्रतिशत पर कोरोना पाॅजिटिविटी दर,मौत की रफ़्तार बरकरार

छतीसगढ़ में कोरोना पाॅजिटिविटी दर में आई उल्लेखनीय गिरावट

कोरोना कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की सुचारू व्यवस्था ने तोडा संक्रमण का चेन

छत्तीसगढ़ में कोरोना पाॅजिटिविटी दर 13 प्रतिशत पर पहुंची,रिकवरी भी तेज