छत्तीसगढ़ में कोरोना हुआ अनकंट्रोल,एक दिन में आंकड़ा 2 हजार पार

रायपुर | छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर पूरी तरह से अनकंट्रोल दिखाई दे रही है। प्रदेश भर में बीते 24 घंटे में 2 हजार 106 मरीज मिले,जिसके बाद सभी के माथे पर चिंता की लकीर उभर गई है। वर्ष 2021 की बात करें तो 24 मार्च यानी बुधवार को जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज मिलने की पुष्टि की गई है। वहीं बीते 1 साल की बात करते हैं तो मौत के आंकड़े में भी बीते 24 घंटे का आंकड़ा दिल दहला देने वाला है। 24 घंटे में 28 संक्रमितों की मौत से स्वास्थ्य विभाग हड़कंप में है। इससे साफ जाहिर होता है कि लोग वेक्सिनेशन के आने के बाद निश्चिंत हो गए हैं और लापरवाह भी। 

24 घंटे में दो हजार पार 

प्रदेश भर में बीते 24 घंटे में कोरोना के नए मरीज 2106 मिले हैं। वहीं 479 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं। सबसे ज्यादा भयावह मौत  का आंकड़ा है,जिसमें बीते 24 घंटे में 28 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। वही 37015 मरीजों ने कोरोना की जांच भी करवाई है। प्रदेश में जिलेवार आंकड़े की बात करें तो सबसे ज्यादा दुर्ग जिले में 793 संक्रमित दर्ज किए गए हैं। वहीं दूसरे स्थान पर रायपुर रहा, जहां 573 मरीजों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा अन्य जिलों में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता दिखाई दे रहा है। प्रदेश भर में सुकमा में केवल 1 मरीज कोरोना से संक्रमित मिला है। वहीं जिलेवार मौत के आंकड़े में भी सबसे ज्यादा रायपुर में 10, दुर्ग में 9 बेमेतरा और बलौदाबाजार में 2-2, महासमुंद, बिलासपुर,सरगुजा, कोरिया और रायगढ़ में 1-1 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है।

हॉट स्पॉट की कगार पर आंकड़ा 

बीते 24 घंटे में मिले कोरोना के आंकड़े के मुताबिक प्रदेश में अब तक कुल 3 लाख 29 हजार 694 पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किए गए हैं। जिसमें कुल 3 लाख 13 हजार 749 मरीजों को स्वास्थ्य होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। वहीं अब प्रदेश भर में मौत का कुल आंकड़ा 4011पहुंच चुका है। इन आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में कुल सक्रिय मरी 11 हजार 934 हैं। यदि आमलोगों की लापरवाही को नहीं रोका गया तो आने वाले समय में प्रदेश के कई शहर कोरोना हॉटस्पॉट भी बन सकते हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने की अपील

राज्य में कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से अपील की है कि अभी भी मास्क लगाने ,भीड़ से बचने की जरूरत है। लोगों में यह धारणा आ गई है कि कोरोना की वैक्सीन आ गई है अब मास्क लगाने की आवश्यकता नही है लेकिन यह गलत धारणा है। विषेषज्ञों के अनुसार वैक्सीन लगाने के बाद भी संक्रमण से बचने के लिए कोरोना अनुकूल व्यवहार करना ,मास्क लगाना ,सुरक्षित दूरी रखना आवश्यक है। साथ ही बुजुर्गों को विषेष रूप से और 45 वर्ष से अधिक के सभी लोगों को वैक्सीन जरूर लगाना चाहिए। सभी को अपनी समझदारी से मास्क लगाकर ही बाहर निकलना चाहिए । यदि अत्यंत आवश्यक हो तभी बाहर निकलना चाहिए। आगामी त्योहारों को ध्यान में रखकर सभी को सतर्कता बरतनी होगी,मेल मुलाकातों से बचना होगा । 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों और ऐसे व्यक्ति जिन्हे दूसरी  गंभीर बीमारी है उनको विषेष ध्यान देने की जरूरत है। लक्षण दिखने के 24 घंटे के अंदर ही कोरोना की जांच करवा कर इलाज प्रारंभ  करना चाहिए जिससे रिकवरी की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

संबंधित पोस्ट

छत्तीसगढ़ में 54 हजार 144 सैम्पलों की हुई जांच,पाॅजिटिविटी दर 2.9 प्रतिशत

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी 3.1 फीसदी के साथ 1886 मिले नए मरीज

प्रदेश की औसत पाॅजिटिविटी दर 3.7 प्रतिशत,रिकवरी में हुई वृद्धि

छत्तीसगढ़ में पाॅजिटिविटी दर पहुंचा 3.8 प्रतिशत,सैंपलों की जांच में भी आई कमी

छत्तीसगढ़ में संक्रमण की रफ्तार को रोकने में दवा किट बनी मददगार

Covid-19:छत्तीसगढ़ में कोरोना का चेन टूटा और रिकवरी दर बढ़ी

छत्तीसगढ़ की औसत पाॅजिटिविटी दर 4.8 प्रतिशत,मॉर्टिलिटी में गिरावट

पाॅजिटिविटी और मॉर्टिलिटी की दरों में आई कमी,रिकवरी ग्राफ हुआ तेज

छत्तीसगढ़ में 8 प्रतिशत पर कोरोना पाॅजिटिविटी दर,मौत की रफ़्तार बरकरार

छतीसगढ़ में कोरोना पाॅजिटिविटी दर में आई उल्लेखनीय गिरावट

कोरोना कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की सुचारू व्यवस्था ने तोडा संक्रमण का चेन

छत्तीसगढ़ में कोरोना पाॅजिटिविटी दर 13 प्रतिशत पर पहुंची,रिकवरी भी तेज

शेयर
प्रकाशित
Swaroop Bhattacharya

This website uses cookies.