वैक्सीन से कोविड संक्रमण नहीं होता है : एपी कमांड सेंटर

न तो कोवैक्सीन और न ही कोविशील्ड आरटी-पीसीआर रिपोर्ट को पॉजिटिव करता है

अमरावती | वैक्सीन के बाद भी कोरोना वायरस फैलने की अफवाहों के बीच आंध्र प्रदेश कोविड कमान और नियंत्रण केंद्र ने यह स्पष्ट किया कि  वैक्सीन लगाने के बाद भी पॉजिटिव रिपोर्ट बताती है कि वायरस पहले से बॉडी में मौजूद था ।

कमांड सेंटर के एक अधिकारी ने कहा, “अगर आरटी-पीसीआर पॉजिटिव है तो पोस्ट टीकाकरण का मतलब है कि बीमारी पहले से मौजूद है, ना कि वैक्सीन के कारण पॉजिटिव है।”

उन्होंने कहा कि न तो कोवैक्सीन और न ही कोविशील्ड आरटी-पीसीआर रिपोर्ट को पॉजिटिव करता है।

अधिकारी ने कहा “पोस्ट टीकाकरण  के बाद बुखार को लेकर चिंतित नहीं होना चाहिए। इसको उपचार केवल पेरासिटामोल 650 एमजी से करें।”

Vaccines do not lead to Covid infection: AP command centre
कोविशील्ड एक वायरल वेक्टर वैक्सीन है, न कि एक क्षीण टीका है, जिसमें एसएआरएस-कोव 2 नहीं, बल्कि एसएआरएस-कोव -2 के आनुवांशिक पदार्थों का एक भाग होता है।

कोवैक्सीन का निर्माण हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक और कोविडशील्ड का पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा किया जाता है।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन,तीन जिलों को मिला विशेष निर्देशों के साथ राहत

कांग्रेस का आरोप:मोदी सरकार ने देश का 43% वैक्सीन विदेशों को भेज दिया

18 वर्ष से अधिक आयु के लिए 50 लाख वैक्सीन की पहली खेप कब पहुंचेगी छत्तीसगढ़

LOCKDOWN:सम्पूर्ण रायपुर जिला 6 मई तक के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित

वैक्सीन और ऑक्सीजन उपकरणों पर माफ हुई कस्टम ड्यूटी

नया कोरोना वायरस अधिक संक्रामक, लेकिन घातक दर इतनी खतरनाक नहीं

Global Covid-19:वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले बढ़कर 14.26 करोड़ हुए

मौत के बढ़ते आंकड़े से लगा डर लेकिन नए कोरोना संक्रमित मरीज हुए कम

केन्द्र से राज्य सरकार ने मांगा 285 वेन्टिलेटर,सचिव स्तर पर हुआ पत्रव्यवहार

दुनिया भर में कोरोना वायरस मामलों की संख्या 13 करोड़

WHO ने कोरोना वायरस के स्रोत की संयुक्त शोध रिपोर्ट की जारी

म्यूटेशन एक वर्ष में कोविड वैक्सीन को बेअसर कर सकते हैं : विशेषज्ञ