दुर्गः कवर्धा के क्वारेंटाइन सेंटर में युवक की फांसी लगा खुदकुशी

कवर्धा। दुर्ग संभाग के कवर्धा के एक क्वारेंटाइन सेंटर में एक युवक ने फांसी लगा खुदकुशी कर ली।आज सुबह उसकी लाश खिड़की से लटकी मिली। उसने गमछे को फंदा बना लिया था। बताया जाता है कि वह बार-बार घर जाने की जिद कर रहा था। इजाजत नहीं मिली जिससे परेशान रहा करता था।

मिली जानकारी के अनुसार घटना के समय वह क्वारेंटाइन सेंटर में अकेला था। पंडरिया ब्लॉक में दमगढ़ पंचायत के ताईतिरनी गांव निवासी 26 साल का तुलसी बैगा  महाराष्ट्र की एक नलकूप खनन गाड़ी में मजदूरी करता था और हाल ही में वह गांव लौटा था।  इसके बाद उसे 11 जुलाई को  गांव के ही स्कूल में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था।

आज सुबह उसके पिता जब वहां पहुंचे तो बेटे को फंदे पर लटकता पाया। बताया गया कि वह इससे पहले दो बार वहां से भागने की कोशिश की थी। लिहाजा क्वारेंटाइन सेंटर की चौकीदारी उसके पिता को ही करने कहा गया था। पिता बाहर सोता था और गेट पर ताला लगा कर दिया करता था।

इस युवक से पहले इस क्वारेंटाइन सेंटर में आधा दर्जन से ज्यादा ग्रामीण रखे गए थे जिन्हें कल छुट्टी दे दी गई थी। इसके बाद युवक अकेला रह गया था। इनके जाने के बाद से वह भी घर जाने की जिद कर रहा था।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के कई इलाकों के क्वारेटाइन सेंटरों में इसके पहले इस तरह की आत्मघाती कदम उठाए जाने की घटनाएं हो चुकी हैं। बदहाल क्वारेंटाइन सेंटरों में सांप काटन, करंट लगने और सही समय पर इलाज नहीं मिलने से भी मौत की घटनाएं हो चुकी हैं।