रुस की ‘स्पुतनिक-5’ वैक्सीन कितनी सुरक्षित है?

हर दो में से एक डॉक्टर ने यह टीका लगवाने से इनकार किया

नई दिल्ली। रुस की ‘स्पुतनिक-5’ वैक्सीन कितनी सुरक्षित है? इसे लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। चिकित्सा बिरादरी और वैज्ञानिक अभी भी इस बात को लेकर अनिश्चित हैं कि क्या कोई वैक्सीन स्थायी रूप से लोगों को कोविड -19 से संक्रमित होने से रोक सकता है या वायरस को खत्म करने या इसका प्रकोप सीमित करने में मदद कर सकता है।

बता दें कि पूरी दुनिया में वर्तमान में 175 से अधिक वैक्सीन उम्मीदवार विकास के विभिन्न चरणों में हैं।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हाल ही में दुनिया की पहली अप्रूव की गई कोविड -19 वैक्सीन ‘स्पुतनिक-5’ की घोषणा की है और अपनी एक बेटी को टीका लगवाते हुए कहा कि यह “सुरक्षित” है।

हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को भी लगता है कि वैक्सीन को कठोर सुरक्षा समीक्षा की आवश्यकता थी।

वहीं चिकित्सा बिरादरी और वैज्ञानिक अभी भी इस बात को लेकर अनिश्चित हैं कि क्या कोई वैक्सीन स्थायी रूप से लोगों को कोविड -19 से संक्रमित होने से रोक सकता है या वायरस को खत्म करने या इसका प्रकोप सीमित करने में मदद कर सकता है।

रूस के रक्षा मंत्रालय और रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष का कहना है कि स्पुतनिक-5 को पहली बार डॉक्टरों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं कम से कम 20 देशों ने इसे खरीदने में रुचि दिखाई है। लेकिन रिपोर्ट्स कुछ और कहती हैं, इनके मुताबिक हर दो में से एक डॉक्टर ने यह टीका लगवाने से इनकार किया है। लगभग 50 प्रतिशत डॉक्टर मानते हैं कि इसे बहुत तेजी से विकसित किया गया है।

देश-दुनिया के लोगों के मन में यह सवाल बरकरार है कि कब इस घातक वायरस के लिए एक प्रभावी वैक्सीन तैयार होगा?
(आईएएनएस)