कोरियाः रायपुर से लौटे सोनहत जनपद के मनरेगा अफसर कोरोना पाजिटिव, हड़कंप

संपर्क में आए दो कर्मचारी भी संक्रमित, संपर्क में आए लोगों की जानकारी जुटाई जा रही

चंद्रकांत पारगीर, बैकुंठपुर। कोरिया जिले के सोनहत जनपद क्षेत्र कोरोना के ग्रीन जोन में अब तक था लेकिन कल रात जनपद पंचायत कार्यालय सोनहत में कार्यरत एक मनरेगा के अधिकारी के कोरोना पाजिटिव होने के बाद जनपद पंचायत कार्यालय सहित जनपद मुख्यालय सोनहत के लोगों में कोरोना को लेकर हडकंप मच गया है। वहीं शनिवार की दोपहर उनके संपर्क में आए दो कर्मचारी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है, इधर, कोविड अस्पताल से 4 मरीजों के ठीक होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया। अब भर्ती मरीजों की संख्या  29 हो गई है, इधर सरकार ने की बदली हुई गाईडलाइन के अनुसार स्वास्थ्य विभाग कार्यवाही करने में जुटा हुआ है।

जानकारी के अनुसार सोनहत जनपद पंचायत कार्यालय में कार्यरत जिस मनरेगा अधिकारी का कोरोना पाजिटीव निकला वे चार पॉच दिन पहले रायपुर से लौटे थे जिसके बाद उनकी जांच की गयी तो पाजिटीव निकले। स्वास्थ्य विभाग की टीम संक्रमित कर्मी को कोविड सेंटर उपचार में भर्ती कर दिया है। वहीं संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए दो लोगो को बैकुंठपुर जिला अस्पताल मे टेस्ट किया गया जो पॉजिटिव आया जिसके बाद दोनों को कोविड ले जाने की तैयारी की जा रही है। पॉजिटिव केस मिलने की खबर के बाद जिला अस्पताल प्रबंधन ने पूरे अस्पताल को सेनेटाइज करवाया।

उधर, सोनहत में निकले पॉजिटिव अधिकारी का किन किन लोगों के साथ संपर्क था जानकारी ली जा रही है। विभाग की एक टीम बडे स्तर पर जांच में जुटी हुई है। जनपद पंचायत कार्यालय को सील करने की भी तैयारी  शुरू कर दी गयी थी। इस घटना के बाद सोनहत क्षेत्र में संपर्क में आये कई लोगों की जॉच के साथ रेंडम जांच भी लोगों की जायेगी जिसके बाद कई और मामले सामने आ सकते है। अब तक कोरोना संक्रमण से सुरक्षित सोनहत जनपद क्षेत्र. भी असुरक्षित हो गया है। इसे लेकर लोगों में भय का वातावरण भी बन गया है। वही अब कंटैनमेंट क्षेत्र भी बनाया जायेगा जिससे कि स्थानीय लोगों को परेशानियों का सामना करना पड सकता है।

जनपद के सभी कर्मियों की होगी जांच
सोनहत जनपद पंचायत कार्यालय में कार्यरत मनरेगा कर्मी के कोरोना पाजिटीव निकलने के बाद प्रशासनिक हलकों में हडकंप मच गया है। जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत सोनहत कार्यालय में कार्यरत सभी कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट स्वास्थ्य विभाग द्वारा किये जाने की जानकारी मिली है एक एक कर्मियों की जॉच की जायेगी।  जिससे कि संभावना जताई जा रही है कि कई अन्य कर्मी भी संक्रमित हो सकते है।

सूत्रों के अनुसार कोरोना पाजिटीव आये मनरेगा अधिकारी द्वारा सचिवों की बैठक लेने की भी जानकारी है ऐसे में कई पंचायतों के सचिवों की भी जॉच होगी। वही एसडीएम की बैठक में भी उक्त संक्रमित मनरेगा कर्मी के शामिल होने की जानकारी है। इसके अलावा जिला पंचायत कोरिया  में विभागीय कार्य से आने जाने की जानकारी ली जायेगी इसके बाद जिला पंचायत कार्यालय के कर्मियों का भी जॉच किया जोयगा। वही यह भी जांच करने की जरूरत है कि जनपद के मनरेगा कर्मी रायपुर से लौटने के बाद किन किन पंचायतों के गॉवों का दौरा किया है।

सोनहत क्षेत्र में संक्रमण का खतरा
जनपद के मनरेगा कर्मी के कोरोना पाजिटीव आने के बाद अब तक कोरोना संक्रमण से सुरक्षित सोनहत जनपद के कर्मियों पर खतरा मंडरा रहा है वही जनपद पंचायत कार्यालय में विभिन्न पंचायत क्षेत्रों से आने वाले सचिव सरपंच के साथ अन्य लोगों में भी असुरक्षा की भावना घर कर गयी है। ऐसे गंभीर मामले में पाजिटिव कर्मी के संपर्क में आये एक एक व्यक्तियों की जॉच जरूरी होगा यदि इस दिशा में लापरवाही हुई तो सोनहत जनपद क्षेत्र के गॉवों तक संक्रमण का खतरा बना रहेगा। उल्लेखनीय है कि सोनहत जनपद जिले के सबसे सुरक्षित जनपद क्षेत्रों में से एक अब तक बना रहा लेकिन अब कोरोना संक्रमण का खतरा मंडराने लगा है।

संपर्क में आये दो अन्य पाजिटिव
सोनहत जनपद के मनरेगा कर्मी का कोरोना पाजिटीव आने के बाद  उनके संपर्क में आये दो लोगों ने स्वयं अपना जॉच कराने 1 अगस्त को जिला अस्पताल पहंचे जहॉ उन दोनों व्यक्तियो केी रिपोर्ट भी पाजिटीव आने की जानकारी मिली है। इसके साथ ही जिला चिकित्सालय में हडकंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा तत्काल जिला चिकित्सालय को सेनिटाईज करना शुरू कर दिया तथा जिला अस्पताल में कई लोगों को सेनिटाईज किया गया।

ज्ञात हो कि अब तक सोनहत जनपद क्षेत्र में मात्र एक ही कोरोना पाजिटीव सामने आ चुका है इसके अलावा अब तक सोनहत जनपद क्षेत्र में दूसरा कोई भी कोरोना पाजिटीव का मामला सामने नही आया था इस जनपद के लोग पूरी तरह से सुरक्षित थे लेकिन हाल में जनपद पंचायत के मनरेगा अधिकारी के कोरोना पाजिटीव होने के बाद जनपद सोनहत में कार्यरत कर्मियों में हडकंप मच गया।