नवजात शिशु, युवा इस नई लहर के कोरोना संक्रमण से ग्रसित!

15 से 30 वर्ष तक के करीब 30 फीसदी नौजवान लोगों में भी संक्रमण

नई दिल्ली |डॉक्टरों के अनुसार इस नई लहर के कोरोना से 12 साल से कम उम्र के बच्चों के साथ नवजात शिशु में भी संक्रमण मिला है। साथ ही नौजवान युवा भी इसके शिकार हो रहे हैं।

दिल्ली में कोरोना की इस नई लहर ने अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया है। क्या बच्चे और क्या ही बुजुर्ग हर कोई इस संक्रमण की चपेट में आ रहा है। दिल्ली के डॉक्टरों के अनुसार इस लहर में 12 साल से कम उम्र के बच्चों के साथ नवजात शिशु में भी संक्रमण मिला है। साथ ही नौजवान युवा भी इसके शिकार हो रहे हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहले ही इस लहर को खतरनाक मान चुके हैं, वहीं डॉक्टर भी इस लहर को बेहद खतरनाक मान रहे हैं। जिसकी वजह से अस्पतालों में छोटे बच्चों से लेकर युवाओं में इस संक्रमण का असर तेजी से बढ़ रहा है।

दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में आपातकालीन विभाग की प्रमुख डॉ. ऋतु सक्सेना ने आईएएनएस को जानकारी देते हुए बताया कि, “इस बार बच्चों में भी कोविड देखने को मिल रहा है, कुछ दिन के बच्चे भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं।”

उन्होंने बताया, “जबसे ये नई लहर शुरू हुई है, तबसे अभी तक 7 से 8 छोटे बच्चे भर्ती हुए हैं, हर दिन में एक या दो बच्चे आ रहे हैं। इनमें सबसे छोटा बच्चा वो नवजात शिशु है जो अस्पताल में ही संक्रमित हुआ था।”

“इसके अलावा 15 से 30 वर्ष तक के करीब 30 फीसदी नौजवान लोगों में भी संक्रमण दिख रहा है।”

दरअसल दिल्ली के मुख्यमंत्री भी युवाओं को लेकर अपनी चिंता व्यक्त कर चुके हैं और उन्होंने अपील करते हुए भी कहा था कि जरूरी वक्त में ही घर से बाहर निकलें।

डॉ सक्सेना ने आगे बताया कि, “इस बार जिन नौजवानों को संक्रमण हो रहा है उन सबमें बुखार का लक्षण जरूर देखने को मिल रहा है।”

“बेड न मिलने का डर, लोगों को अस्पतालों की ओर खींच रहा है, लोगों का मानना है कि यदि अस्पताल में बेड मिल जाएगा तो हम बच जाएंगे। लोगो के अंदर से पहले ये डर निकालना होगा।”

डॉ. ऋतु ने आईएएनएस से कहा कि, “एलएनजेपी अस्पताल में यदि वही मरीज आए जिनको सच में इलाज की जरूरत है तो अस्पताल सही ढंग से इस बीमारी से निपट सकता है। वरना हमारा आधा समय अन्य मरीजों को समझाने और उनको बताने में ही लग जा रहा है।”

हालांकि इस बार यह भी देखा जा रहा है कि यदि घर में एक व्यक्ति पॉजिटिव है तो पूरा परिवार संक्रमित पाया जा रहा है।

दरअसल दिल्ली में पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 17,282 नए मरीजों की पुष्टि हुई और एक बार एक लाख से ज्यादा 1,08,534 सैंपल की जांच में 15.92 पॉजिटिविटी रेट दर्ज हुआ है। वायरस की वजह से 104 मरीजों की मौत हो गई।

बढ़ते मामलों को देख दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान कर दिया गया है, कर्फ्यू शुक्रवार रात 10 बजे शुरू होगा और सोमवार सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

लौट रहे मजदूरों से पुनः कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की स्पीड में आई कमी, मिले 12 हजार

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण हुआ कम, 22.57 फीसदी है संक्रमण दर

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का दर हुआ 25.3 फीसदी,रफ्तार में आई कमी

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का सिलसिला बरकरार,वर्चुअल ओपीडी शुरू

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण रफ्तार कम, रिकवरी रेट में इजाफा

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के रफ्तार में आई तेजी,मिले 16750 नए संक्रमित

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण से जंग जीतने वालों की संख्या में हुआ इजाफा

CORONA:लॉकडाउन के बावजूद अब तक नहीं टूटी कोरोना संक्रमण की चेन

कोरोना संक्रमण की नई लहर और लॉकडाउन की चिंताएं

शराब के नशे में चूर माँ बेसुध पड़ी रही, बच्ची ने भूख से तड़पते दम तोड़ा

रिप्ड जींस में युवा बेघर भिखारियों की तरह न दिखें : कंगना