इश्क के लिए जान देने में बंगाल अव्वल, ओडिशा छठां…

प्रेम संबंध के चलते 4782 लोगो ने की थी खुदखुशी

नई दिल्ली। इश्क में जान देने वालों में पश्चिम बंगाल अव्वल है तो तमिलनाडु दूसरे स्थान पर। इसके बाद मध्य प्रदेश, गुजरात एवं पांचवें स्थान पर महाराष्ट्र है। छठवें स्थान पर ओडिशा है। यह जानकारी राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों से सामने आई है।
जारी आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2016 में पूरे देश में प्रेम में असफल होने के बाद 4579 युवक एवं युवतियों ने आत्महत्या की थी। इसमें 2139 युवतियां थीं जबकि युवकों की संख्या 2440 थी। प्रेम संबंध के कारण पश्चिम बंगाल में 748 युवा जोड़े ने आत्महत्या की थी। इसके बाद आता है तमिलनाडु जहां यह संख्या 540 है। इसके बाद मध्यप्रदेश का नंबर है जहां 377, गुजरात में 365 और महाराष्ट्र में 356 युवा जोड़े ने आत्महत्या की। इस क्रम में ओडिशा में प्रेम में असफल हुए कुल 341 युवा जोड़े हैं। जिसमें से 144 युवती तथा 197 युवक हैं।

वर्ष 2017 में पूरे देश में प्रेम संबंध के कारण आत्महत्या करने वालों की कुल संख्या 4782 थी, जिसमें से 2245 युवती और 2537 युवक शामिल थे। ओडिशा में वर्ष 2017 में कुल 389 युवक-युवतियों ने आत्महत्या की। इसमें से 174 युवती हैं जबकि 215 युवक थे। प्रदेश में प्रेम के चक्कर में पड़कर आत्महत्या करने के अधिकांश मामले खुर्दा, बालेश्वर और केन्द्रापड़ा में दर्ज हुए हैं।

वर्ष 2016 में गैर-संबंध के चलते देश में कुल 983 लोगों ने आत्महत्या की। इसमें 558 पुरुष हैं जबकि महिलाओं की संख्या 425 है। गैर-संबंध के चलते आत्महत्या के मामले वाले राज्यों में सबसे आगे मध्यप्रदेश है। वर्ष 2016 में मध्यप्रदेश में 163 लोगों ने गैर-संबंध के कारण आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद आता है पश्चिमबंगाल, जहां 120 व तीसरे स्थान पर तमिलनाडु जहां 119 लोगों ने इस वजह से खुदकुशी का रास्ता अपना लिया। इसके बाद असम में 82, महाराष्ट्र में 69, केरल में 58, तेलेंगाना में 54, कर्नाटक में 44 लोगों ने आत्महत्या की थी। इस क्रम में ओडिशा देश में नौवें स्थान पर है। इस दौरान ओडिशा में कुल 39 लोगों ने आत्महत्या की, जिसमें से पुरुषों की संख्या 11 और महिलाओं की संख्या 28 है। 2017 में पूरे देश में 1064 लोगों ने अनैतिक संबंधों के चलते आत्महत्या की थी। इसमें ओडिशा से 42 लोग थे। इनमें 16 पुरुष और 26 महिलाएं शामिल हैं।