Big News : दंतेवाड़ा में 28 माओवादियों का सरेंडर, 4 पर था ईनाम

दंतेवाड़ा के कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल कैंप की घटना

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा इलाके में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। चार इनामी नक्सलियों समेत कुल 28 माओवादियों ने आज दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव के सामने सरेंडर किया है। इस दौरान डीआरजी के चिकपाल कैम्प के आला अधिकारी भी मौजूद रहे। पुलिस ने बताया कि इन माओवादियों ने कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल कैम्प में अपने साथी के पूर्व में किए गए समर्पण से प्रेरणा लेकर अपने हाथों से बन्दुक छोड़ने का फैसला लिया है। चिकपाल कैंप में पूर्व नक्सली राजू मिडकोम ने सरेंडर किया था जिसके सामान्य जनजीवन और दिनचर्या से उसके साथी प्रभावित हुए और मुख्यधारा में आने का फैसला किया।

                                  एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि इनमे से कई नक्सली ऐसे है जिन्होंने बड़ी वारदातों को भी अंजाम दिया है। सिन्हा ने बताया कि आत्मसमर्पित नक्सलियों में 26 नंबर प्लाटून सदस्य मंगलू 2 लाख का इनामी, बामन कवासी कटेकल्याण LOS सदस्य 1 लाख इनामी, हांदा LGS सदस्य 1 लाख इनामी, पोडियामी गंगी CNM कमांडर 1 लाख इनामी है।
सन्नू मरकाम, भीमा कुड़ामी, हांदो कुडामी, रोसोल माडवी, जोगा कवासी, बुधरा माडवी, आयता मडकामी, आयतू मडकामी, हडमा सोढ़ी, मादे कुहराम, बामन मरकाम, लक्खो कुडामी, लखमा मुचाकी, हुंगा मुचाकी, सुकड़ा मुचाकी, गागरू मरकाम, सुकड़ा मड़कामी, हडमा कवासी, लच्छू कोवासी, बामन मरकाम, बुधराम कोवासी, हिड़मा मड़काम, सुकड़ा कोवासी, महादेव पोडियाम जनमिलिशिया सदस्य शामिल है।

मुखबिरी से लेकर हमला तक
आत्मसमर्पित जनमिलिशिया सदस्यों द्वारा माओवादियों के गांव में आने के दौरान भोजन व्यवस्था करना, संत्री ड्यूटी कर पुलिस पार्टी के गश्त में जाने पर इसकी सूचना देना, फटाखा फोड़कर माओवादियों तक पहुंचाना, पुलिस पार्टियों को नुकसान पहुंचाने के लिये स्पाईक, प्रेशर बम लगाना एवं दैनिक उपयोगी सामाग्रियों की व्यवस्था करने का काम था।