शादी से इंकार पर प्रेमिका को चाकू से गोदकर मार डाला

छात्रा के मुकरने से नाराज़ था प्रेमी हीरालाल भगत

जशपुरनगर। नाबालिक प्रेमिका के शादी से इंकार के बाद बौखलाए प्रेमी ने चाकू से गोदकर उसकी हत्या कर दी परिजनों ने उसकी शादी कहीं ओर तय कर दी थी। घटना छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले की है पुलिस ने मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।बता दें कि बाल दिवस के दिन ग्राम नीमगाँव की जशपुर के एमएलबी विद्यालय में पढ़ने वाली छात्रा कुमारी कार्तिम बाई महारानी की गुल्लू जलप्रपात के पास निर्मम हत्या कर दी गई थी।
सन्ना थाना प्रभारी सिरिल एक्का ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी युवक का नाम हीरालाल भगत निवासी डाडटोली खरसोता है। जिसके द्वारा छात्रा की चाकू से मारकर हत्या कर दी गई। आरोपी जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि उक्त मृतक छात्रा उसकी प्रेमिका थी और जीवन भर साथ निभाने का वादा किया था, लेकिन हाल के दिनों में छात्रा मुकरने लगी थी और उसने उसे बताया कि उसके घर वाले दूसरी जगह शादी करने वाले हैं। आरोपी छात्रा को लेकर जशपुर से खरसोता पहुंचा और खरसोता से गुल्लू जलप्रपात चला गया। गुल्लू में इस बात को लेकर दोनों में जमकर विवाद हुआ। जिससे बौखलाए आरोपी ने अपनी प्रेमिका को जान से मार डाला। आरोपी ने चाकू से गोदकर बेहरमी पूर्वक छात्रा की हत्या कर दी। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और न्यायालय में पेश करने प्रक्रिया की जा रही है। पुलिस ने इस मामले को लेकर जिलेभर में आक्रोश देखने को मिल रहा था और सभी मामले के आरोपी की गिरफ्तारी के लिए मांग कर रहे थे।

संबंधित पोस्ट

जशपुर में विवाहिता से सिपाही ने किया बलात्कार, जुर्म दर्ज

70 की उम्र में 5वीं पास कर सुर्खियों में रहा जशपुर का यह बुजुर्ग अब मांग रहा सपरिवार इच्छामुत्यु

कमरा बंद कर खुद को आग लगा ली

Breaking News : थाने के बैरक में सिपाही ने फांसी लगाई

नए साल में सरगुजा में गौकशी की घटनाएं, माहौल गरमाया

जशपुर नगर पालिका परिषद में भाजपा की भारी जीत

जशपुर में 73.39 प्रतिशत मतदान

देश-विशेष : इश्क के लिए आंखों की नहीं दिल की रौशनी चाहिए, एक-दूजे के हुए गूंजा-सूरज

जुर्माने का आदेश दिया और समाज ने नहीं उठाई उसकी अर्थी

प्यार किया, तकरार पर मारकर कुएं में फेंक दिया

यह इश्क है गालिब…20 रुपये के स्टाम्प पर लिख दिया

मोहब्बत में “ना” बनी जानलेवा, प्रेमिका को चाकू से गोदा फिर लगाई फांसी