सिमी आतंकी केमिकल अली के बैंक खाते में हैं एक करोड़ रुपए

पुलिस खंगाल रही है परिजनों के बैंक खाते

रायपुर | छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आतंकियों के प्रतिबंधित संगठन इस्लामिक स्टूडेंट मूवमेंट ऑफ इंडिया के सदस्य को पिछले दिनों हैदराबाद से पुलिस ने पकड़ कर लाया है।पकड़े गए आरोपी अजहरुद्दीन उर्फ केमिकल अली को रायपुर पुलिस 12 अक्टूबर को हैदराबाद से लेकर राजधानी पहुंची है। तब से अब तक उस से की गई पूछताछ में कुछ खुलासे होने की खबर मिल रही है।

आतंकी के खाते में है एक करोड़
सिमी यानी इस्लामिक स्टूडेंट मूवमेंट ऑफ इंडिया के सदस्य अजहरुद्दीन 6 साल पहले रायपुर से ही फरार हुआ था। बताया जा रहा है कि आतंकी हैदराबाद से सऊदी अरब भाग चुका था। जहाँ उसने काफी रकम जमी की और अपने परिजनों के खाते में डालता गया। अजहरुद्दीन के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने उसके परिजनों पर भी तिरछी नजर बनाई हुई थी। इसके बाद अब परिजनों से पूछताछ और उनके बैंक खातों की जांच करने से लगभग एक करोड़ से ज्यादा की रकम बैंकों में होने की बात पुलिस कह रही है। पुलिस ने अजहरुद्दीन के रिश्तेदारों की खातों की जांच की है। जिसमें पता चला है कि रायपुर के अलावा दुर्ग और भिलाई के बैंक अकाउंट में भी रकम केमिकल अली के द्वारा भिजवाई गई थी। साथ ही पुलिस ने यह भी पता लगा लिया है कि फर्जी पासपोर्ट और अन्य दस्तावेज जिस ठिकाने से केमिकल अली ने बनाया था। अब पुलिस केमिकल अली के परिजनों के बैंक अकाउंट की जांच करने के फिराक में जुट गई है जहाँ 1 करोड़ रुपए होने की बात सामने आ रही है। पुलिस का मानना है कि अजहरुद्दीन और केमिकल अली के परिजनों से पूछताछ और बैंक अकाउंट खंगालने के बाद ही पूरी वास्तविकता सामने आ पाएगी।

सिमी के 18 आरोपी गिरफ्त में
उल्लेखनीय है कि करीब 6 साल पहले यानी साल 2013 में 17 सिमी आतंकियों को एटीएस ने धर दबोचा था। इनमें से एक आतंकी अजहरुद्दीन भागने में सफल हो गया था। जो अब 12 अक्टूबर को पुलिस के गिरफ्त में आ चुका है। कुल मिलाकर 18 लोगों की गिरफ्तारी अब तक की जा चुकी है।