पुलिस बना पर हरकतों ने खोल दी पोल और फिर…

नहीं मिली पुलिस की नौकरी तो उठाया ये कदम...

जांजगीर-चांपा। छत्तीसगढ़ी में एक कहावत है कि छोटे आदमी बड़े पद पाय, पादत-मूतत गीत गाय। यानि किसी अयोग्य का किसी बड़े पद पर आसीन हो जाने पर वह उसका स्वभाव अचानक बदल जाता है और हरकतें उसके अयोग्य होने को बयां कर देती हैं। दरअसल जिले के सक्ती का एक युवक पुलिस बनना चाहता था पर उसकी ख्वाइश पुरी नहीं हो सकी। तब अपने शौक को पुरा करने वर्दी पहल ली और बाइक पर घूमता रौब दिखाने लगा। ग्रामीणों को उसकी हरकतों पर संदेह हुआ और पुलिस को इत्तला दी। पुलिस जब युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो सारा माजरा सामने आ गया।

पुलिस के मुताबिक युवक ने बताया कि उसका नाम रामेश्वर पटेल है और बाराद्वार क्षेत्र के परसदाकला गांव का रहने वाला है। वह जांजगीर के कॉलेज से एमए की पढ़ाई कर रहा है, पुलिस बनना ताहता था पर जब उसकी हसरत पूरी नहीं हुई, तब वह नकली वर्दी पहनकर थोड़ा रौब दिखाने की चाहत से घूमने निकल गया था। उसने एएसआई अविनाश साहू नाम का नेम प्लेट अपनी वर्दी में लगवाया हुआ था।

सक्ती पुलित ने बताया कि युवक पासीद गांव पहुंचा, यहां ग्रामीणों को उसकी हरकतें पर उसके नकली एएसआई होने का शक हुआ तो पुलिस को खबर किया। दी। उस पर धारा 171 के तहत कार्रवाई की गई। सक्ती टीआई के मुताबिक, युवक को पुलिस बनने का शौक है, जिसकी वजह वह पुलिस की वर्दी पहनकर बाइक से पहुंचा था, लेकिन वह गांव में किसी को परेशान नहीं कर रहा था। उसने बताया कि जांजगीर की ही एक दुकान से यह नकली वर्दी खरीदी थी। संबंधित दुकानदार के खिलाफ भी पुलिस जांच कर रही है।