खुलासा : साथी किन्नर ने ही की थी हत्या, ये बताई वज़ह

मृतिका ने 70 हज़ार की रकम ली थी उधार

दुर्ग। किन्नर सोनू सारथी उर्फ छाया की हत्या साथी किन्नर काजल उर्फ शंकर बुद्धे ने की थी। पूछताछ के दौरान उसने पुलिस के समक्ष हत्या करना कबूल किया है। घटना का पूरा ब्यौरा नहीं मिल सका है, गिरफ्तार कर पूछताछ चल रही है। सिटी कोतवाली थाना प्रभारी सुरेश धु्रव ने बताया कि राजीव नगर स्थित एक मकान के पीछे बोरे और चादर में बंद शव मिलने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंचने पर गया नगर दुर्ग निवासी शव किन्नर सोनू सारथी उर्फ छाया का निकला। वह केटरिंग का कार्य करती थी। शनिवार की रात साढ़े 9 बजे वह घर से निकली थी।

             उसके बाद रविवार की सुबह परिजनों को उसके शव मिलने की खबर मिली। मृत किन्नर के पेट में धारदार हथियार से 6 -7 वार किए जाने के निशान थे। संदेह के आधार पर पुलिस ने किन्नर काजल से पूछताछ की। जिस पर उसने अपराध कबूल कर लिया। पुलिस ने बताया कि मृतिका छाया नेे दो साल पहले काजल से 70 हजार रूपए उधार लिये थे, लेकिन काजल जब भी छाया से पैसे मांगती तब वो उसे लगातार टालती रहती थी। इस 70 हज़ार की वसूली से ही परेशान होकर काजल ने छाया की हत्या कर दी। हत्या से पहले काजल और छाया ने जमकर शराब भी पी थी।

मानव तस्करी के मामलें में काटी जेल
पुलिस ने बताया कि मृतका करीब एक हफ्ते पहले ही मानव तस्करी के आरोप में जेल से रिहा हुई थी। इसका एक और साथी अब भी जेल में है। मृतक सोनू किन्नर के परिजनों के मुताबिक बीती रात करीब 10 बजे उसे किसी अन्य किन्नर का फोन आया तब मोबाइल घर छोड़कर पैदल ही बाहर निकली थी। इसी बीच उसकी हत्या हो गई। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि दुर्ग और रायपुर के किन्नरों के बीच क्षेत्र बंटवारे को लेकर भी विवाद चल रहा है। थाने में शिकायत भी की गई थी। मामले में कुछ दिन पहले दुर्ग के गुट ने पुलिस के पास अपना बयान भी दर्ज करवाया था। इसे ध्यान में रखकर भी तहकीकात की गई।