आदिवासियों को कर्ज देकर उनकी जमीन बेच दी

3 आरोपी गिरफ्तार, पिथौरा पुलिस की बड़ी कामयाबी

पिथौरा। आदिवासियों को जमीन के एवज में कर्ज देकर जमीन बेचने के मामले में स्थानीय पुलिस ने माह भर में दूसरा बड़े मामले में कामयाबी पाई है। मामले में तीन आरोपियों को 420 के आरोप में गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया है।पुलिस अधीक्षक के अनुसार पूरे मामले की विस्तृत जांच की जा रही है।जिससे और भी गिरफ्तारियां सम्भावित हैं।

बुधवार को स्थानीय पुलिस थाना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला ने नगर के आनंद अग्रवाल द्वारा आदिवासियों की जमीन को कर्ज देकर उसकी अफरा तफरी की जानकारी दी।इस सम्बंध में बताया गया कि मंगलवार को पटेवा शिविर में प्रार्थी टेकलाल बरिहा ग्राम खपराखोल एवम बोधराम बरिहा ने एस पी श्री शुक्ला से लिखित शिकायत में बताया कि उनके पिता मानसिंह बरिहा अपने जीवित काल मे रुपयों की आवश्यक्ता होने पर 1 लाख 90000 एवम दूसरे आवेदक ने 90000 रुपये 3 फीसदी ब्याज में लिए थे। इस एवम में आनंद अग्रवाल ने दोनों आदिवासी आवेदकों की ऋण पुस्तिका अपने पास रख ली थी। परन्तु सन 2014 में पिता की मौत के बाद पुत्र टेकलाल ने खेत के खाते से फावती कटवाने एवम कृषि कार्य सहित धान खरीदी का रजिस्ट्रेशन हेतु ऋण पुस्तिका लेने आनन्द अग्रवाल पास गया तब उसने बताया कि पुस्तिका उसके पिता ले गए है और उनके नाम से 12 एकड़ कृषि भूमि को अपनी दुकान के एक कर्मी तेजराम दीवान निवासी ग्राम सराईपाली थाना तेंदुकोना के पास बेच दी थी।इसी तरह आनन्द द्वारा अपने एक अन्य कर्मी भावसिंह दिवान के नाम पर भी अनेक जमीनों की रजिस्ट्री करवाई गई थी। इस शिकायत के बाद पुलिस अधीक्षक श्री शुक्ला के निर्देश पर चार तीन गठित कर आनंद अग्रवाल के पिथौरा स्थित घर दुकान श्रृंगारिकता सहित सराईपाली निवासी आनन्द के दोनों कर्मियों के याहा सोमवार शाम 6 बजे दबिश दी।रात भर चले तलाशी अभियान में पुलिस ने अनेक आपत्तिजनक दस्तावेज जपत कर आनन्द अग्रवाल निवासी मन्दिर चौक पिथौरा,तेजराम दीवान निवासी ग्राम सराईपाली एवम भावसिंह दीवान निवासी ग्राम जामपाली को धारा 420,120B एवम 34 भा द वी की धारा के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

जब्त सामग्री
पुलिसिया कार्यवाही में आरोपी आनन्द अग्रवाल के घर तलाशी में 51 नग भाग 01 ऋण पुस्तिका,11 नग भाग 02 ऋण पुस्तिका,बैंको के विड्रॉल फॉर्म हस्ताक्षर सहित एवम चेक बुक कोरी एवम कुछ हस्ताक्षर सहित विभिन्न बैंकों की पासबुक 34 नग,ए टी एम कार्ड 07 नग,51 प्रति कोरे स्टाम्प गवाहों के हस्ताक्षर सहित एवम अन्य दस्तावेज,आनन्द के कर्मी तेजराम दीवान से 18 नग ऋण पुस्तिका भाग एक एवम दो,एवम 18 नग बैंक पास बुक,आनन्द के एक अन्य कर्मी भाव सिंह दीवान के घर की तलाशी में कुल 34 नग ऋण पुस्तिका भाग 01 एवम भाग 02,के अलावा कोई दर्जन भर से अधिक चेक बुक जब्त की गई।