नशे के खिलाफ सूरजपुर पुलिस की “सर्जिकल स्ट्राइक”

लाखों की दवाएं जब्त, मेडिकल मालिक समेत 5 गिरफ्तार

सूरजपुर। सूरजपुर पुलिस ने अवैध नशीली दवाओं के ख़िलाफ़ जंग छेड़ दी है। नशे के कारोबार को जड़ से उखाड़ फेंकने की मुहिम के तहत् एसपी ने जिले की पुलिस टीम को कार्यवाही के लिए माड़ा मध्यप्रदेश भेजने की रणनीति बनाई थी। दरअसल बीते दिनों जिले के अलग-अलग थाना/चौकी की पुलिस ने लाखों की अवैध नशीली दवाइयों के साथ 5 आरोपियों को गिरफ़्तार कर जेल भेजा है। ये दवाएं मध्यप्रदेश से लाकर यहां खपाई जा रही थीं।इसके बाद मप्र जाकर छापामारकर लाखें की नशीली दवाइयां जब्त की गईं। यह पहला मौका है कि सूरजपुर की पुलिस मध्यप्रदेश में जाकर नशे के कारोबार करने वाले मेडिकल स्टोर में छापा मारकर भारी मात्रा में नशीली दवाईयों को बरामद किया है।

बसदेई पुलिस को 11 नवंबर को सूचना मिली कि मध्यप्रदेश के माडा से कोरिया जिले के निवासी गंगा प्रसाद साहू अपने 2 साथी राजेन्द्र गोड़ एवं पारस गोंड़ के साथ मोटर सायकल में अवैध रूप से नशीली दवाईयां लेकर आ रहे है। इस पर बसदेई पुलिस ने ग्राम कुसमुसी के पास घेराबंदी की। 4 घंटे बाद ओड़गी की ओर से एक मोटर सायकल आते दिखा, जिसे रोककर पूछताछ की जा रही थी। तभी मोटर सायकल के चालक ने वाहन को तेज गति से चलाकर भागने की कोशिश की, जिसे पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ा। वाहन में सवार तीनों से नाम पता पूछने पर अपना-अपना नाम गंगा प्रसाद साहू पिता उदय भान साहू, ग्राम रनई, थाना पटना, जिला कोरिया. राजेन्द्र गोंड़ पिता कामेश्वर सिंह, निवासी ग्राम चम्पाझर, थाना पटना जिला कोरिया पारस गोंड़ पिता जगदीश गोंड़ , निवासी ग्राम चम्पाझर, थाना पटना जिला कोरिया को होना बताया। तीनों आरोपियों के पास मौजूद एक जूट के बोरा से ओनरेक्स कफ सिरप 95 नग, एविल इंजेक्शन 136 नग, सिंप्लेक्स सी प्लस कैप्सूल 1728 नग, पाइवोन स्पास प्लस कैप्सूल 1536 नग, अल्प्राजोलम टेबलेट 600 नग, स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 144 नग एवं रेक्सोजैसिक इंजेक्शन 40 नग जब्त किया।

मध्यप्रदेश से आती है दवाई
नशीली दवाईयां के संबंध में आरोपियों से पूछताछ करने पर उनके द्वारा उक्त नशीली दवाईयों को मध्यप्रदेश के माडा शिवम मेडिकल के संचालक मिथलेश शाह से खरीदना बताया। इस सुचना पर टीम भेज कर रेड की गई। इस कार्यवाही में पुलिस ने मेडिकल संचालक मिथलेश शाह एवं उसके कर्मचारी बोलबम शाह के कब्जे से अल्प्रोकेन टेबलेट 30 हजार 2 सौ नग, सिंटलेक्स सी प्लस कैप्सूल 11 हजार 2 सौ नग, ट्रीडोल 50 कैप्सूल 3 हजार 3 सौ नग, लेबोरेट इंजेक्शन 40 नग स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 4 हजार 7 सौ 52 नग, एविल इंजेक्शन 750 नग जब्त की गई। पुलिस के द्वारा दोनों स्थानों से जब्त की गई, नशीली दवाईयों की कीमत करीब 25 लाख रूपये है।

ये दवाओं को पुलिस ने किया जप्त
पुलिस ने 22660 नग कैप्सूल, 30800 नग टेबलेट, 966 नग इंजेक्शन एवं 95 नग कफ सिरप कुल 54 हजार 5 सौ 21 नग नशीली दवाईयां जप्त किया है जिनमें ओनरेक्स कफ सिरप 95 नग, एविल इंजेक्शन 886 नग, रेक्सोजैसिक इंजेक्शन 40 नग, लेबोरेट इंजेक्शन 40 नग, ट्रीडोल 50 कैप्सूल 3300 नग, सिंप्लेक्स सी प्लस कैप्सूल 12928 नग, पाइवोन स्पास प्लस कैप्सूल 1536 नग, स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 4896 नग, अल्प्राजोलम टेबलेट 600 नग एवं अल्प्रोकेन टेबलेट 30200 नग है, जिसकी बाजारू कीमत करीब 25 लाख रूपये है। मेडिकल स्टोर संचालक के द्वारा जिन बड़े शहरों के संस्थानों से नशीली दवाईयों को लाया जाता है उन संस्थानों के ख़िलाफ़ अलग से कार्यवाही करने का पुलिस दावा कर रही है।

14 मामलों में 31 पर कार्रवाई
बसदेई पुलिस ने वर्ष 2019 में 7 अलग-अलग प्रकरणों में 13 लोगों से करीब 81 हजार रूपये कीमत के अवैध मादक पदार्थ गांजा एवं करीब 9 लाख रूपये कीमत, विश्रामपुर पुलिस ने 6 अलग-अलग मामलों में 16 लोगों से करीब 5 लाख 40 हजार रूपये के नशीली दवाईयों एवं खड़गवां पुलिस के द्वारा 12 नवम्बर 2019 को 2 लोगों से 5 लाख रूपये कीमत के नशीली कफ सिरप बरामद कर आरोपियों को जेल भेजा है।