रायगढ़ में लूट का मामला सुलझा, नगर पंचायत अध्यक्ष और उसके बेटे ने की थी लूट

72 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा, लूट की रकम 13 लाख रुपए, स्कार्पियो जप्त

रायगढ़। रायगढ़ के खरसिया में एसबीआई बैंक के नज़दीक हुई लूट का मामला पुलिस ने 72 घंटे के अंदर सुलझा लिया है। इस मामलें में पुलिस ने लूट की रकम 13 लाख रुपए की बरामदगी भी कर ली है। साथ ही घटना में इस्तमाल स्कॉर्पियों और दो मोबाईल भी पुलिस ने जप्त किए है। इस मामलें में पुलिस ने अड़भार नगर पंचायत अध्यक्ष कार्तिक राम रात्रे और उसके बेटे विक्रम समेत एक अन्य को गिरफ्तार किया है।


पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने इस मामलें का खुलासा करते हुए बताया कि खरसिया में हुई लूट की घटना की पूरी प्लानिंग पिता पुत्र ने मिलकर की थी। घटना की सूचना पर एसडीओपी खरसिया पितांबर पटेल के नेतृत्व में टीम बनाई गई थी जिसने पूरी मेहनत के साथ काम किया और मामला खुल स्का। उन्होंने बताया कि पुलिस की टीम प्रार्थी, गवाहों से पूछताछ कर घटना की तस्दीकी के साथ उपलब्ध संसाधनों से मुल्जिम की पतासाजी कर रही थी, देर शाम रात तक बैंक से आरोपियों के भागने के रास्तों पर लगे सीसीटीवी फुटेज को निकाला गया। कार्तिक राम पूछताछ में पुलिस टीम को आरोपियों के भागने का रास्ताे उल्टा बता रहा था, जिस पर पुलिस को संदेह हुआ तथा कुछ सीसीटीवी कैमेरे के फुटेज में एक बाइक में दो नकाबपोश व्यक्ति दिखे जो पीड़ित/प्रार्थी अगतराम से लूटी हुई है थैला व बैग पकड़े दिख रहे थे।

फुटेज में पहचाना गया अपराधी
एसपी ने बताया कि पीड़ित अगतराम व विकास देवांगन को भी ये फुटेज दिखाया गया, जिन्होंने सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे नकाबपोश व्यक्ति को कार्तिक राम रात्रि के पुत्र विक्रम रात्रे के रूप में पहचान किए। जिस पर पुलिस टीम द्वारा विक्रम रात्रे को हिरासत में लिया गया और उससे पूछताछ की गई । विक्रम रात्रे ने अपने साथी चित्रसेन सतनामी निवासी तेलीकोट के साथ उसके बड़े पिताजी अगतराम से रुपए लूट कर भागना बताया एवं घटना के साजिशकर्ता अपने पिता कार्तिक राम रात्रे को बताया। पुलिस टीम ने कार्तिक राम रात्रे से पूछताछ किया गया तो उसने अपनी साजिश से पर्दाफास कर बताया कि उसे ठेकेदार कन्हैया राठौर के सेल्फ चेक से काफी बड़ी रकम SBI खरसिया से निकाले जाने की जानकारी पूर्व से थी। उसने रूपये लूट करने की योजना में अपने पुत्र विक्रम रात्रे और तेलीकोट के चित्रसेन सतनामी को भी शामिल किया। जिन्हें अपनी योजना बताया और पूर्व सुनियोजित तरीके से अपनी स्कार्पियो CG11 AM-3999 में स्वयं तथा बिना नम्बर ग्लैमर बाईक में बेटे विक्रम और चित्रसेन के साथ बैंक के बाहर लूट की तैयारी के साथ पहुंचे थे।

साढू के घर छोड़ी थी रकम
आरोपी विक्रम रात्रे ने अगतराम से रुपयों भरा थैला एवं बैग छीनकर ग्राम भाटा थाना मालखरोदा में अपने साढू भाई चेतन्य रात्रे के घर उनकी गैरमौजूदगी में बच्चों को दे कर वह से निकल गया। खरसिया पुलिस द्वारा आरोपियों के अपराध कबूलनामे के बाद आरोपी विक्रम रात्रे के मेमोरेंडम पर ग्लैमर बाईक बिना नम्बर तथा 13 लाख रूपये बरामद कर जप्त किया गया है वहीं आरोपी कार्तिक राम रात्रे से स्कॉर्पियो CG11 AM-3999 व एक मोबाइल जप्त कर गिरफ्तार किया गया है। घटना का साजिशकर्ता आरोपी (1) कार्तिक रात्रे पिता ननकी दाऊ रात्रे उम्र 40 वर्ष, उसका पुत्र आरोपी (2) विक्रम रात्रे पिता कार्तिक रात्रे 22 साल दोनों निवासी अडभार थाना मालखरौदा जिला जांजगीर चांपा एवं आरोपी (3) चित्रसेन सतनामी पिता बुद्धुराम सतनामी उम्र 37 साल निवासी तेलीकोट थाना खरसिया को आज न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।