विधानसभा : जिम चलाने का भी बनाए कानून, आसंदी के सरकार को निर्देश

बॉडी बिल्डिंग को लेकर विधानसभा में उठाए गए मुद्दों पर सदन हुआ गंभीर

रायपुर। बॉडी बिल्डिंग को लेकर विधानसभा में उठाए गए मुद्दों के बाद अब आसंदी की ओर से सरकार को यह निर्देश दिए गए हैं कि जिम चलाने के लिए भी राज्य सरकार एक नियम बनाए। जिसके तहत सुरक्षित और स्वस्थ वातावरण में युवा अपनी फिटनेस के लिए मेहनत कर सके।

दरअसल विधानसभा में आज ध्यानाकर्षण के ज़रिए विपक्ष के सदस्य अजय चंद्राकर, बृजमोहन अग्रवाल, शिवरतन शर्मा ने प्रदेश में स्टेरॉयड इंजेक्शन की अवैध बिक्री करने का मामला उठाया। जिसमें बगैर चिकित्सक और फिजिशियन के दिशा निर्देश पर मसल पावर बढ़ाने के लिए फूड सप्लीमेंट, प्रोटीन पाउडर जैसे कई अन्य खाद्य पदार्थों के अवैध बिक्री की जानकारी सदस्यों ने सदन में रखी। इसके साथ ही सदस्यों ने राजधानी रायपुर के जिमर संदीप ठाकुर की हालिया मौत का भी मामला उठाया है।
जिस पर आसंदी ने राज्य सरकार को इस मामले पर निर्देशित किया कि “यह मामला बेहद गंभीर है, लिहाजा राज्य सरकार जिम संचालन के लिए उचित नियम बनाएं इसमें सदस्यों के द्वारा उठाए गए विषयों के भी समावेश किया जाना चाहिए।”

नहीं है सर्टिफाइड ट्रेनर
राजधानी समेत प्रदेश भर के जिम में बगैर सर्टिफाइड ट्रेनर के ही पूरा जिम संचालित हो रहे है। जिसमें कसरत करने के तौर-तरीकों पर भी कई दफे सवालिया निशान लगे है। इसके अलावा जिम में जल्दी बॉडी बनाने और वेट लूज करने के लिए भी कई तरह के दवाई पाउडर और इंजेक्शन जिम की तरफ से दिए जा रहे है, जिसमें कई हानिकारक परिणाम भी मिले है।