सदन में गूंजा शराब बिक्री,मंत्री कवासी पर बिफरे विधायक धर्मजीत

जाँच की मांग पर आबकारी मंत्री का जवाब

रायपुर | सदन में दूसरे दिन मंगलवार को शराब की बिक्री पर सदन गरमाया। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के लोरमी से विधायक धर्मजीत सिंह ने मामला उठाते हुए कहा कि सरकार के जवाब में बताया गया है कि 11 हजार 28 सौ करोड़ रुपये की शराब सरकारी दुकान से बेची गई। जबकि कोषालय में 8 हजार 278 करोड़ रुपये जमा हुआ है। ऐसी स्थिति में 2856 करोड़ रुपये कहां गए। जवाब में आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने आंकड़ा पेश करते हुए कहा कि 2856 करोड़ रुपए शराब खरीदी, शराब के परिवहन, स्टाफ पेमेंट जैसे मदों में खर्च किए गए हैं।

आबकारी मंत्री के इस जवाब से असंतुष्ट विधायक ने कहा कि ये आपकी दुकान नहीं है और न ही आप इसके मालिक है। ये सरकारी रुपए है जिसे पहले कोषालय में जमा होना चाहिए था। विधायक धर्मजीत ने इसमें बड़ा घोटाला होने का अंदेशा जाहिर करते हुए कहा की इसकी जांच कराने की मांंग की। लेकिन विभागीय मंत्री कवासी लखमा ने इस मामले में किसी तरह की जांच की जरूरत नहीं होने की बात कही । उन्होंने साफ तौर पर कहा की शराब खरीदने में राशि खर्च की गई है।