अगर मैं कुछ बना सकती हूं, तो मैं खत्म भी कर सकती हूं- रश्मि देसाई

बिगबॉस-13 की फाइनलिस्ट ने अपने अवसाद के दिनों पर बात की

मुंबई। बिगबॉस 13 के फाइनल में पहुंची अभिनेत्री रश्मि देसाई ने अवसाद के खिलाफ अपनी लड़ाई के बारे में खुलकर बात की। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि किस तरह उस अवस्था से निकलने में उनके परिवार ने उनकी मदद की।

रश्मि ने हिंदुस्तानटाइम्स डॉट कॉम को दिए साक्षात्कार में कहा, “आप कमतर महसूस करने लगते हैं, आपका आत्म-अवलोकन प्रभावित हो जाता है, आपका आत्मविश्वास लगभग शून्य हो जाता है। आप मूडी और उदास हो जाते हैं और आपकी पसंद बदल जाती है। कई लोग इसका सामना करते हैं लेकिन वे इसके बारे में बात नहीं करते हैं। मैंने खुद को बांध लिया था। सबसे अच्छी बात यह है कि मेरे काम ने हमेशा मेरा साथ दिया। क्योंकि मैंने काम किया, इससे मुझे बहुत मदद मिली। तीन से चार साल बाद, मैंने भी काउंसलिंग ली और महसूस किया कि अगर मैं कुछ बना सकती हूं, तो मैं भी कुछ खत्म भी कर सकती हूं।”

उन्होंने इस बारे में भी बात की कि अवसाद से वह किस तरह लड़ीं। उन्होंने कहा, “आपको ऐसे लोगों के साथ रहना चाहिए जो आपको विकसित होते देखना चाहते हैं और जो आपको बढ़ने में मदद कर सकते हैं। अक्सर, हमें एहसास नहीं होता है लेकिन हमारी पसंद गलत हो सकती है।

उन्होंने कहा, ” हम दुखी होते हैं जब चीजें हमारी उम्मीदों से मेल नहीं खाती हैं। मुझे लगता है कि आपको हमेशा आगे बढ़ना चाहिए और कभी हार नहीं माननी चाहिए।”

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर की पांचवीं रिर्पोट निकली निगेटिव

लॉकडाउन हटने के बाद आलिया और रणवीर करेंगे शादी

अजय देवगन और रोहित शेट्टी ने एफडब्ल्यूआईसीई को दिये 51 लाख रुपये

नेहा कक्कड़ के इंस्टाग्राम पर फॉलोअर्स की संख्या 3 करोड़ के पार

रणबीर के साथ ब्रेकअप की अफवाह पर आलिया ने तोड़ी चुप्पी

Corona Effect : सेल्फ-आइसोलेशन में न्यूयॉर्क रिर्टन अनुपम खेर

‘बिगबॉस 13’ ने मुझे मजबूत इंसान बनाया : रश्मि देसाई

नूपुर सैनन के ‘फिलहाल’ का अनप्लग्ड वर्जन रीलिज

मुझे स्लो मोशन शॉट्स पसंद है : करीना कपूर

अवार्ड सहेजना नहीं, व्यक्ति के रूप में जो मिला, सफलता है : अनुपम खेर

हर लड़की को उनके मुताबिक जीने की आजादी मिले : अनुष्का शर्मा

कभी शादीशुदा के प्यार में मत पड़ना : नीना गुप्ता