रायपुर की रिया दुबई में करेंगी सिंधी नाटक का मंचन…

"ससु सेर नूंह सवा सेर" का नाटक का होगा मंचन

रायपुर। राजधानी रायपुर की एक और बेटी अब विदेशों में सूबे का नाम रौशन करने जा रही है। टीवी चैनल से ख़बरों को बुनने की ललक और लाईव इवेंट होस्ट करने वाली एंकर रिया अशपिल्या रायपुर का नाम दुबई तक पहुचाएंगी। रिया पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्तर एक सिंधी नाटक का मंचन करने दुबई जा रही है। उनके साथ उनकी पूरी यूनिट रहेगी। बीते 4 सालों से एंकरिंग कर लाईव इवेंट में जान डालने की कला में माहिर रिया अब अभिनय के क्षेत्र में भी अपने कदम जमा रही है। रिया प्रसिद्ध गुजराती नाट्य-निर्देशक हरेन भाई ठाकर के नाटक पर आधारित सिंधी नाटक “ससु सेर नूंह सवा सेर” में मुख्य किरदार निभाने जा रही है। वे इस नाटक में छोटी बहु का किरदार निभाएंगी जिसके इर्द गिर्द ही नाटक की पूरी कहानी घूमती है।

                इस नाटक का मंचन 27 सितम्बर शुक्रवार को दुबई में होना है, जिसकी तैयारी पिछले दो माह से पूरी यूनिट जी तोड़ मेहनत के साथ कर रही है। थेएटर के पुराने व चर्चित नामों में से एक जयप्रकाश मसंद ने सामाजिक संदेश देते हुए इस नाटक का नवरूपांतरण किया है, साथ ही उन्होंने ही इस नाटक का निर्देशन भी किया है। जिसमे सिंधिकर्ण जेठो लालवानी व सह-निर्देशन में जयपाल हबलानी ने अपनी भूमिका निभाई है। नाटक में संगीत का जिम्मा आशीष सिहानी को दिया गया है।

“ससु सेर नूंह सवा सेर” में ये निभाएंगे किरदार
नाटक में मुख्य रूप से कुसुम हबलानी (सास), रिया अश्पिल्या (छोटी बहू), नन्दलाल आहूजा (ससुर), विकास शर्मा (बेटा), वीणा लालवानी (बड़ी बहू) के अलावा नरेश लुल्ला, हरीश अभिचन्दानी, शुभम हबलानी सहायक किरदार में नज़र आएंगे। नाटक की जानकारी देते हुए जयप्रकाश मसंद ने बताया कि इसमें आधुनिक ज़माने की बहु और सास के बिच के रिश्ते की खट्टी मीठी केमस्ट्री को बड़ी मोहब्बत से परोसा गया है। साथ ही एक बेटे को भी पत्नी और माँ के बीच किस बैलेंस से रहना चाहिए ये मैसेज भी हम इस नाटक में दे रहे है।