छालीवुड कलाकारों में प्रदर्शन के बाद हुआ दो फाड़

कलाकारों ने एक दूसरे पर राजनीती करने का लगाया आरोप

रायपुर | छत्तीसगढ़ फिल्म से जुड़े कलाकारों, तकनीकी कलाकारों ने बुधवार को अपनी एकजुटता दिखाई और मल्टीप्लेक्स मे छत्तीसगढ़ी मूवी लगाने के लिए गांधीवादी आंदोलन किया। इस आंदोलन में कलाकारों ने अपनी गिरफ्तारी भी दी। लेकिन जब मंत्री से मिलने की बात आई तो कलाकारों में ही आपसी मतभेद उभरता नजर आया। इस समय कलाकारों के दो गुट बन गए। एक गुट कांग्रेस और दूसरा भाजपा की तरफदारी करता दिखाई दिया। हलाकि छत्तीसगढ़ सिने टेलीविजन एवं प्रोड्यूसर एसोसिएशन के अध्यक्ष संतोष जैन ने किसी भी राजनीतिक सरगर्मी को दरकिनार कर दिया है। उन्होने साफ तौर पर कहा कि कुछ कलाकार ने राजनीती से जुडी बयां दिया था इसलिए दूसरे कलाकारों में नाराजगी थोड़ी थीछत्तीसगढ़ सिने टेलीविजन एवं प्रोड्यूसर एसोसिएशन के अध्यक्ष संतोष जैन संतोष जैन ने माना की संघ में कलाकार अपनी कला से ही पहचान बनाये तो ज्यादा सही है लेकिन किसी प्रकार की राजनीती सहन नहीं की जाएगी। अध्यक्ष संतोष जैन ने बताया की मंत्री से मिलने एक प्रतिनिधि मंडल को जाना था। इसलिए कुछ नहीं जा पाए और कुछ बात नहीं है ।


छत्तीसगढ़ी फिलम एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश अग्रवाल ने जताई नाराजगी
छत्तीसगढ़ी फिल्म दस कलाकार और छत्तीसगढ़ी फिलम एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश अग्रवाल छत्तीसगढ़ सिने टेलीविजन एवं प्रोड्यूसर एसोसिएशन से खासे नाराज नजर आ रहे हैं। योगेश अग्रवाल ने सीसीटीपीए को आड़े हाथो लेते हुए उन पवार ही राजनीती का बेजा आरोप लगाने का सारा ठीकरा फोड़ दिया। उनके अनुसार मंत्री के घर जाने से पहले ही कलाकारों को राजनीतिक दलों से जोड़ा गया,जा कतई उचित नही था। योगेश ने राजनीतिकरण की बात को घोर निंदनिय करार दिया है। साथ ही योगेश ने कहा कि अब सीसीटीपीए से उनका कोई तालमेल नही रहेगा। छत्तीसगढ़ी फिलम एसोसिएशन अब प्रदेश के संस्कृति मानती से अलग से जाकर मिलने की बात कर रहा है जिसे अध्यक्ष योगेश अग्रवाल है। 06 जून को योगेश अग्रवाल अपने संघ के साथियों के साथ मंत्री से मुलाकात करने की बात कह रहे हैं। ऐसे में छालीवुड में दो फाड का नतीजा किस करवट बैठता है ये देखने वाली बात है ।