कांग्रेस से “उर्मिला की जुदाई” ऐन चुनाव से पहले दिया इस्तीफ़ा

बड़े मुद्दों को छोड़ छोटी राजनीति का भी लगाया आरोप

मुंबई। लोकसभा चुनावों से बमुश्किल पांच महीने पहले कांग्रेस में शामिल हुईं अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर ने महाराष्ट्र के आगामी विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी का दामन छोड़ा है। पार्टी के भीतर गहरी गुटबाजी को रेखांकित करते हुए मातोंडकर ने कहा कि बड़े और अहम मुद्दों को दरकिनार कर छोटी और घटिया राजनीति के लिए उनका इस्तेमाल किया जा रहा था।

            उन्होंने मीडिया को दिए एक बयान में कहा, “यह स्पष्ट है कि मुंबई कांग्रेस के प्रमुख पदाधिकारी पार्टी की बेहतरी के लिए संगठन में बदलाव और बदलाव लाने में असमर्थ है।”
“मेरी राजनीतिक और सामाजिक संवेदनाएं मुंबई कांग्रेस में बड़े लक्ष्य पर काम करने की है है, बजाय इसके घर में राजनीति करने और आपसी मतभेदों से मई घिर रही थी लिहाज़ा मैंने ये फैसला लिया।”

अभिनेता से नेता बनी उर्मिला में भाजपा के गोपाल शेट्टी के खिलाफ लोकसभा चुनाव के दौरान मुंबई उत्तर लोकसभा सीट में हार गई थी। उन्होंने मिलिंद देवड़ा को भेजे गए एक पत्र के संबंध में घोर विश्वासघात पर भी चिंता व्यक्त की। जिन्होंने पिछले सप्ताह राज्य पार्टी प्रमुख का पद छोड़ दिया था।


उनके पत्र का जिक्र करते हुए मातोंडकर ने मीडिया को बताया कि उनकी शिकायतों पर न केवल कोई कार्रवाई की गई, बल्कि उनके पत्र, जिसमें विशेषाधिकार प्राप्त और गोपनीय जानकारी थी, वो भी आसानी से मीडिया में लीक हो गया।
गौरतलब है कि रंगीला (1995), जुदाई (1997) और मस्त (1999) जैसी हिट फिल्मों की स्टार, सुश्री मातोंडकर मार्च में अभिनेताओं से राजनेताओं की एक लंबी सूची में शामिल हो गईं।