16 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

सुप्रसिद्ध उपन्यासकार शरत चंद्र चट्टोपाध्याय का निधन हुआ था

रायपुर | आज हम आपको बताने जा रहे हैं देश विदेश में आज के दिन की ख़ास जानकारियां। आज के इतिहास में 16 जनवरी को हुए महत्वपूर्ण लोगों के जन्म,निधन और कई आश्चर्य घटनाओं की जानकारी आपको होगी।

उपन्यासकार शरत चंद्र चट्टोपाध्याय का निधन
16 जनवरी 1938 में बांग्ला के सुप्रसिद्ध उपन्यासकार शरतचंद्र चट्टोपाध्याय का निधन हुआ था। बचपन से ही शरतचंद्र पर रविंद्र नाथ ठाकुर और बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय का गहरा प्रभाव रहा। शरद चंद्र ललित कला के छात्र थे लेकिन आर्थिक तंगी के चलते वह इस विषय की पढ़ाई नहीं कर सके। रोजगार की तलाश में शरद चंद्र बर्मा गए और लोक निर्माण विभाग में क्लर्क के रूप में काम किया। बर्मा से लौटने के बाद उन्होंने गंभीरता से लिखना शुरु किया। उन्होंने अपना पहला प्रसिद्ध उपन्यास श्रीकांत लिखा जिसका लोगों ने खूब सराहा इसके बाद उन्होंने अनेक उपन्यास लिखे जिनमें पंडित मोशाय,बैकुंठेर बिल, मेज दीदी, दर्पचूर्ण, अभागिनी का स्वर्ग, अरक्षणीया, अनुपमा का प्रेम, गृहदाह, सती आदि प्रमुख हैं। इसके अलावा शरतचंद्र के कुछ मशहूर उपन्यासों चरित्रहीन और देवदास पर हिंदी फिल्में भी बनी।

गद्दाफी बने लीबिया के शासक
16 जनवरी 1970 को कर्नल मुअम्मार गद्दाफी ने अहिंसक सत्ता पलट के बाद लीबिया के शासन को अपने हांथों में लिया था। सैन्य तख्ता पलट के बाद 28 वर्ष गद्दाफी ने प्रधानमंत्री का पद लिया अपनी काउंसिल में चार लोगों को नियुक्त किया। इससे पहले कर्नल गद्दाफी ने रक्षा और आंतरिक मंत्रियों द्वारा तख्तापलट की योजना को नाकाम किया था और दोनों मंत्रालयों को अपने कब्जे में कर लिया था। एकजुटता की हमेशा वकालत करने वाले कर्नल गद्दाफी ने तख्तापलट के बाद ब्रिटेन को आदेश दिया कि वो लीबिया से अपने सैन्य अड्डों को छोड़कर वापस लौट जाए। लीबिया का शासन संभालने के बाद उन्होंने वहां के वाणिज्य और उद्योग का लीबियाई करण करने की मुहिम शुरू की। कर्नल गद्दाफी की गिनती विश्व के सबसे बड़े तानाशाहों में होने लगी थी।

16 जनवरी के इतिहास में कई ऐसी महत्वपूर्ण घटनाये दर्ज है जिनमें………

1556 – फिलिप द्वितीय स्पेन के सम्राट बने।
1630 – सिक्खों के सातवें गुरु गुरु हरराय का जन्म।
1769 – कलकत्ता में पहली बार सुनियोजित घुड़दौड़ का आयोजन किया गया।
1901 – भारत के प्रसिद्ध समाज सुधारक, राष्ट्रवादी महादेव गोविन्द रानाडे की मृत्यु।
1920 – पेरिस में ‘लीग ऑफ नेशंस’ ने अपनी पहली काउंसिल मीटिंग की।
1927 – हिन्दी फिल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री तथा टीवी कलाकार कामिनी कौशल का जन्म।
1926 – प्रसिद्ध संगीतकार ओ. पी. नैय्यर का जन्म।
1938 – सुप्रसिद्ध उपन्यासकार शरत चंद्र चट्टोपाध्याय की मृत्यु।
1943 – इंडोनेशिया के अंबोन द्वीप पर अमेरिकी वायुसेना का पहला हवाई हमला।
1947 – विंसेंट ऑरियल फ्रांस के राष्ट्रपति चुने गये।
1946 – अभिनेता कबीर बेदी का जन्म।
1955 – खड्गवासला राष्ट्रीय रक्षा अकादमी का पुणे में औपचारिक रूप से उद्घाटन।
1969 – सोवियत अंतरिक्ष यानों ‘सोयुज 4’ और ‘सोयुज 5’ के बीच पहली बार अंतरिक्ष में सदस्यों का आदान-प्रदान हुआ।
1970 – कर्नल गद्दाफी ने अहिंसक सत्ता पलट के बाद लीबिया के शासन को अपने हांथों में लिया था।
1979 – ‘शाह ऑफ ईरान’ सपरिवार मिस्र पहुँचे।
1991 – अमेरिका का इराक के खिलाफ ‘पहला खाड़ी युद्ध’ शुरू।
1992 – ब्रिटेन एवं भारत के बीच प्रत्यर्पण संधि।
1995 – चेचेन्या में चल रहे गृहयुद्ध को रोकने के लिए रूसी प्रधानमंत्री विक्टर चेर्नोमिर्दिन एवं चेचेन्या प्रतिनिधिमंडल के बीच समझौता।
1989 – सोवियत संघ ने मंगल ग्रह के लिए दो साल के मानव अभियान की अपनी योजना की घोषणा की।
2003 – दूसरी अंतरिक्ष यात्रा पर भारतीय मूल की कल्पना चावला रवाना।
2013 – सीरिया के इदलिब में हुए बम धमाकों में लगभग 30 लोगों की मौत।

संबंधित पोस्ट

19 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

14 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

13 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

12 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

11 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

09 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

08 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

05 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

04 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

03 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

02 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

01 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी