24 दिसंबर के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

भारतीय गायक मुहम्मद रफी का जन्म हुआ

रायपुर | आज हम आपको बताने जा रहे हैं देश विदेश में आज के दिन की ख़ास जानकारियां। आज के इतिहास में 24 दिसंबर को हुए महत्वपूर्ण लोगों के जन्म,निधन और कई आश्चर्य घटनाओं की जानकारी आपको होगी।

श्रेष्ठतम पार्श्व गायक मोहम्मद रफ़ी
हिन्दी सिनेमा के श्रेष्ठतम पार्श्व गायक मोहम्मद रफ़ी का जन्म अमृतसर, के पास कोटला सुल्तान सिंह में 24 दिसंबर 1924 को हुआ। जिन्हें दुनिया रफ़ी या रफ़ी साहब के नाम से जानती है। अपनी आवाज की मधुरता और परास की अधिकता के लिए इन्होंने अपने समकालीन गायकों के बीच अलग पहचान बनाई। इन्हें शहंशाह-ए-तरन्नुम भी कहा जाता था। 1940 के दशक से आरंभ कर 1980 तक इन्होने कुल 26 हजार गाने गाए। इनमें हिन्दी गानों के अतिरिक्त ग़ज़ल, भजन, देशभक्ति गीत, क़व्वाली तथा अन्य भाषाओं में गाए गीत शामिल हैं। उन्होंने अन्य भाषाओं जैसे असमिया, कोंकणी, भोजपुरी, उड़िया, पंजाबी, बंगाली, मराठी, सिंधी, कन्नड़, गुजराती, तेलगू, मगही, मैथिली और उर्दू और यहाँ तक कि अंग्रेजी, फारसी, अरबी, सिंहली, क्रेओल और डच जैसी भाषाओं में भी गाने गाए थे। मोहम्मद रफ़ी का प्रथम गीत एक पंजाबी फ़िल्म गुल बलोच के लिए था जिसे उन्होने श्याम सुंदर के निर्देशन में 1944 में गाया। सन् 1946 में मोहम्मद रफ़ी ने बम्बई आने का फैसला किया। उन्हें संगीतकार नौशाद ने पहले आप नाम की फ़िल्म में गाने का मौका दिया। रफ़ी ने जिन अभिनेताओं पर उनके गाने फिल्माए गए उनमें गुरु दत्त, दिलीप कुमार, देव आनंद, भारत भूषण, जॉनी वॉकर, जॉय मुखर्जी, शम्मी कपूर, राजेन्द्र कुमार, राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन, धर्मेन्द्र, जीतेन्द्र तथा ऋषि कपूर के अलावे गायक अभिनेता किशोर कुमार का नाम भी शामिल है। खासकर अभिनेता शम्मी कपूर अपनी फिल्मो में रफ़ी साहब के आवाज को ही उपयोग किया करते थे। 1965 में भारत सरकार द्वारा मोहम्मद रफ़ी को पद्म श्री सम्मान से नवाजा गया। मोहम्मद रफ़ी की याद में भारत सरकार द्वारा 5 रूपये का डाक टिकट जारी किया गया। 31 जुलाई 1980 को रफ़ी साहब दुनिया को अलविदा कह गए।

आज है राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस
24 दिसम्बर 1986 को तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पहल पर उपभोक्ता संरक्षण विधेयक संसद ने पारित किया और राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित होने के बाद देशभर में उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम लागू हुआ। इस अधिनियम में बाद में 1993 व 2002 में महत्वपूर्ण संशोधन किए गए। इन व्यापक संशोधनों के बाद यह एक सरल व सुगम अधिनियम हो गया है। इस अधिनियम के अधीन पारित आदेशों का पालन न किए जाने पर धारा 27 के अधीन कारावास व दण्ड तथा धारा 25 के अधीन कुर्की का प्रावधान किया गया है। उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 के अनुसार कोई व्यक्ति जो अपने उपयोग के लिये सामान अथवा सेवायें खरीदता है वह उपभोक्ता है। विक्रेता की अनुमति से ऐसे सामान/सेवाओं का प्रयोग करने वाला व्यक्ति भी उपभोक्ता है। अत: हम में से प्रत्येक किसी न किसी रूप में उपभोक्ता ही है।

24 दिसंबर के इतिहास में कई ऐसी महत्वपूर्ण घटनाये दर्ज है जिनमें………
1880 – प्रसिद्ध भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, गाँधीवादी और पत्रकार भोगराजू पट्टाभि सीतारामैया का जन्म हुआ।
1892 – प्रसिद्ध पत्रकार और साहित्यकार बनारसीदास चतुर्वेदी का जन्म हुआ।
1914 – विख्यात सामाजिक कार्यकर्ता, मुख्यतः कुष्ठ रोगियों की सेवा के लिए विख्यात बाबा आम्टे का जन्म हुआ।
1924 – अल्बानिया गणतंत्र बना।
1924 – क्रोयडोन लंदन की एयर फील्ड में हुई विमान दुर्घटना में 8 लोगों की मृत्यु हो गई।
1924 – भारतीय गायक मुहम्मद रफी का जन्म हुआ।
1954 – दक्षिण पूर्वी एशियाई देश लाओस ने स्वतंत्रता हासिल की।
1959 – भारतीय अभिनेता अनिल कपूर का जन्म हुआ।
1962 – सोवियत संघ ने नोवाया जेमल्या में परमाणु परीक्षण किया।
1967 – चीन ने लोप नोर क्षेत्र में परमाणु परीक्षण किया।
1973 – तमिलनाडु के वेल्लोर में ई.वी.रामास्वामी नायकर का निधन हुआ।
1979 – वियत संघ ने अफगानिस्तान पर आक्रमण किया।
1986 – नई दिल्ली में सथापित लोटस टेंपल श्रद्धालुओं के लिए खोला गया था।
1986 – भारत में संसद द्वारा उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम पारित किया गया। इसलिए भारत में 24 दिसंबर को राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस के रूप में मनाया जाता है।
1987 – तमिल अभिनेता और राजनेता एम.जी.रामचन्द्रन का निधन हुआ।
1989 – देश का पहला अम्यूजमेंट पार्क ‘एसेल वर्ल्ड’ महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में खोला गया।
2000 – विश्वनाथन आनंद विश्व शतरंज चैंपियन बने।
2002 – दिल्ली मेट्रो का शुभारंभ शहादरा तीस हजारी लाईन से हुआ था।
2005 – यूरोपीय संघ ने ‘खालिस्तान जिन्दाबाद फोर्स’ नामक संगठन को आतंकी सूची में शामिल किया।
2014 – अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय को भारत रत्न देने की घोषणा हुई।

संबंधित पोस्ट

22 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

21 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

20 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

18 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

17 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओं की जानकारी

16 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

15 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

14 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

13 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

11 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

10 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

09 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी