24 नवंबर के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

सिक्खों के नौवें गुरु गुरु तेग बहादुर ने आज दिया था बलिदान

रायपुर | आज हम आपको बताने जा रहे हैं देश विदेश में आज के दिन की ख़ास जानकारियां। आज के इतिहास में 24 नवंबर को हुए महत्वपूर्ण लोगों के जन्म,निधन और कई आश्चर्य घटनाओं की जानकारी आपको होगी।

सिक्खों के नौवें गुरु गुरु तेग बहादुर का निधन
1675 में गुरु तेग बहादुर सिंह की मृत्यु हुई थी। गुरु तेग बहादुर सिखों के नौवें गुरु थे। विश्व के इतिहास में धर्म और सिद्धांतों की रक्षा के लिए प्राणों की आहुति देने वालों में इनका अद्वितीय स्थान है। तेगबहादुर गुरु हरगोविंद जी के पांचवें पुत्र थे इन्होंने आनंदपुर साहिब का निर्माण कराया और यह वही रहने लगे थे। उनका बचपन का नाम त्याग मल था। मात्र 14 वर्ष की आयु में अपने पिता के साथ मुगलों के हमले के खिलाफ हुए युद्ध में इन्होंने वीरता का परिचय दिया था जिसके बाद औरंगजेब ने दिल्ली के चांदनी चौक पर गुरु तेग बहादुर का शीश यानी सिर काटने का हुक्म जारी कर दिया और 24 नवंबर 1675 को गुरु तेग बहादुर ने हंसते-हंसते बलिदान दे दिया। गुरु तेग बहादुर की याद में उनके शहीद स्थल पर गुरुद्वारा बनाया गया। जिसका नाम गुरुद्वारा “शीश गंज साहिब” है।

चेकोस्लोवाकिया में नए युग का आगाज
1989 में चेकोस्लोवाकिया में एक नए युग की शुरुआत हुई थी, तब तत्कालीन कम्युनिस्ट पार्टी के पूरे नेतृत्व ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के बाद देश में जनतांत्रिक सुधारों के लिए रास्ता साफ हो गया था। कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख मिलोस जेक्स ने आपातकालीन बैठक बुलाई और पोलित ब्यूरो के सभी 24 सदस्यों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस आंदोलन के नायक एलेक्जेंडर डबसेक निर्वासन से देश लौटे। एक महीने के बाद एलेक्जेंडर डबसेक को नए प्रशासन का प्रमुख चुना गया और वेक्लेव हैवल राष्ट्रपति बनाए गए। इसके साथ ही चेकोस्लोवाकिया में वेलवेट क्रांति पूरी हो गई। 1990 में चेकोस्लोवाकिया में चेक और स्लोवाकिया गणराज्य का गठन किया गया। आखिरकार 1993 में चेकोस्लोवाकिया का विघटन हो गया और चेक गणराज्य और स्लोवाकिया के नाम से दो अलग-अलग देशों का जन्म हुआ।

24 नवंबर के इतिहास में कई ऐसी महत्वपूर्ण घटनाये दर्ज है जिनमें………

1675 – सिक्खों के नौवें गुरु गुरु तेग बहादुर का निधन हुआ।
1759 – इटली में विसूवियस पर्वत शिखर पर ज्वालामुखी विस्फोट।
1859 – चार्ल्स डार्विन की ‘आन द ओरिजिन आफ स्पेशीज’ का प्रकाशन।
1871 – नेशनल राइफल एसोसिएशन का गठन।
1877 – डिप्टी कमिश्नर बनने वाले पहले हिंदुस्ताानी कवासाजी जमाशेदजी पेटिगरा का जन्म हुआ।
1881 – भारत के स्वाधीनता सेनानी तथा राजनेता छोटूराम का जन्म हुआ।
1899 – प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ तथा राजस्थान के प्रथम मुख्यमंत्री हीरा लाल शास्त्री का जन्म हुआ।
1929 – भारत के प्रमुख मुस्लिम राजनीतिज्ञों में से एक तथा बिहार, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व राज्यपाल मोहम्मद शफी कुरैशी का जन्म हुआ।
1936 – असम की प्रसिद्ध मुस्लिम महिला राजनीतिज्ञ तथा वहाँ की भूतपूर्व मुख्यमंत्री सैयदा अनवरा तैमूर का जन्म हुआ।
1944 – प्रसिद्ध अभिनेता और फिल्म निर्देशक अमोल पालेकर का जन्म हुआ।
1955 – इंग्लैंड के पूर्व टेस्ट कप्तान और अब कमेंटेटर इयान बॉथम का जन्म हुआ।
1963 – अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ.कैनेडी के हत्यारे ली हार्वे ऑस्वाल्ड की हत्या की गई।
1986 – तमिलनाडु विधानसभा में पहली बार एक साथ विधायकों को सदन से निष्कासित किया गया।
1998 – एमाइल लाहौद ने लेबनान के राष्ट्रपति पद की शपथ ली।
1999 – एथेंस में सम्पन्न विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में भारत की कुंजुरानी देवी ने रजत पदक जीता।
2001 – नेपाल में माओवादियों ने सेना व पुलिस के 38 जवान मार डाले।
2003 – हिंदी फिल्मों की मशहूर कॉमेडियन उमा देवी खत्री का निधन हुआ।
2006 – पाकिस्तान और चीन ने एक मुक्त व्यापार क्षेत्र संधि पर हस्ताक्षर किये तथा अवाक्स बनाने पर भी सहमति हुई।
2007 – पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ आठ वर्षों के निर्वासन के बाद स्वदेश पहुँचे।
2008 – मालेगाँव बम ब्लास्ट के मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एटीएस द्वारा अश्लील सीडी दिखाने का आरोप लगाया।

संबंधित पोस्ट

19 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

14 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

13 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

12 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

11 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

09 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

08 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

05 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

04 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

03 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

02 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

01 मई के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी